tamil nadu police constable recruitment 2019

मंडी, जागरण टीम। Himachal Byelectionः लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस के सहानुभूति कार्ड पर को जहां वीरभद्र सिंह से जुड़े लोगों ने ठीक बताया है वहीं भारतीय जनता पार्टी ने आड़े हाथों लिया है। इंटरनेट मीडिया पर 'वोट नहीं श्रद्धांजलि' नाम से पोस्ट शेयर करने पर लोगों ने प्रतिभा सिंह के पुत्र, शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह को आड़े हाथ लिया है। विक्रमादित्य सिंह की पोस्ट को लेकर 'पोस्टर युद्ध' शुरु हो गया है। विधानसभा उपाध्यक्ष एवं चुराह के विधायक डा. हंसराज ने विक्रमादित्य सिंह से पूछा है कि लाश की राजनीति क्या परिवार का संस्कार है। कुछ माह पहले विक्रमादित्य सिंह ने अपने फेसबुक पेज पर एक पोस्ट शेयर कर डा. हंसराज के घर में संस्कारों की कमी बताई थी। अब मौका मिलते ही डा.हंसराज ने विक्रमादित्य सिंह पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के निधन पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से लेकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सहित पूरा भाजपा नेतृत्व खड़ा रहा। कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, उनकी बेटी प्रियंका गांधी व बेटा राहुल गांधी कई दिन शिमला में रहे, लेकिन तीनों में से कोई अफसोस जताते हाेलीलॉज नहीं पहुंचे। भाजपा नेता यह कह कांग्रेस की खिल्ली उड़ा रहे हैं कि वोट भाजपा को श्रद्धांजलि कांग्रेस को दें। कई लोगों ने पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के कार्यों के बदले में वोट मांगने के बजाय प्रत्याशी प्रतिभा सिंह से पूछा है कि दो बार सांसद रहते हुए मंडी संसदीय क्षेत्र के विकास में उनका क्या योगदान रहा है, उसके आधार पर वोट मांगें। कुछ ने विक्रमादित्य सिंह को अपने सलाहकार बदलने की नसीहत दी थे।