संवादसूत्र,कुमारडुंगी:कुमारडुंगीप्रखंडअंतर्गतछोटारायकमनपंचायतकेबड़ारायकमनगांवमें30प्रवासीश्रमिकोंकोगांवमेंप्रवेशपररोकलगानेसेमजबूरहोकरअपनीव्यवस्थाकेअनुसारतंबु,बकरीशेडवपेड़केनीचेसोनेकोविवशथे।प्रवासीश्रमिकोंकीइसदास्ताँकोदैनिकजागरणअखबारमेंप्रमुखताकेसाथप्रकाशितकरनेकेबादशिक्षाविभागवप्रशासनहरकतमेंआया।मामलेकोलेकरतुरंतसंज्ञानलेतेहुएशिक्षाविभागकेप्रखंडकार्यक्रमप्रबंधकबसंतकुमारआखड़ानेशिक्षककोविद्यालयकीतालाखोलनेकोकहा।शिक्षकनिरंजननायकनेबतायाकीउन्हेस्कूलमेंरहनेकोलेकरकिसीनेचाभीनहींमांगीथीऔरनाहीस्कूलमेंठहरनेकेलिएकिसीनेकहाथा।स्कूलकातालाखोलकरशिक्षकनेप्रवासीश्रमिकोंकोस्कूलमेंरहनेकोदिया।विद्यालयमेंकाफीसंख्यामेंबेंचडेस्करखेहुएहैं।कमकमराहोनेकेकारणश्रमिकोंकोस्कूलबरामदेमेंरातगुजारनीपड़ी।महिलाओंकोहोमक्वारंटाइनकेलिएघरभेजदियागया।स्कूलमेंहॉमक्वारंटाईनपूराकरनेवालेश्रमिकोंकोभोजनकीव्यवस्थाघरसेकियाजारहाहै।इधरछोटारायकमनपंचायतमुखियासाधुहेम्बमनेभीपंचायतभवनकातालाखोलनेकानिर्णयलियाहै।

By Daniels