जागरणसंवाददाता,बैरिया(बलिया):विगतएकमाहसेरह-रहकरहोरहीबारिशकेकारणखरीफकीफसलप्रभावितहोगईहै।निचलेइलाकोंमेंजलजमावकेकारणखेतोंमेंबोवाईनहींहोपारहीहै।अन्यक्षेत्रोंमेंखेतोंकीमिट्टीगीलीहोनेसेअभीभीअधिकांशखेतपरतीपड़ेहुएहैं।जहांपरबलुई-दोमटमिट्टीहै,वहींपरकुछकिसानमक्केकीबोवाईकरसकेहैं।बैरियाइलाकेमेंऐसीमिट्टीवालेखेतबहुतकमहैं।इनखेतोंमेंबोईगईमक्केकीफसलकीभीस्थितिठीकनहींहै।

हल्दीसेलेकरजयप्रकाशनगरतकगंगाकेतटवर्तीइलाकेमेंखरीफकेनामपरकेवलमक्केकीफसलबोईजातीहै,इसमेंकमबरसातकीआवश्यकताहोतीहैलेकिनयहांपरपिछलेएकमाहसेमहजतीन-चारदिनछोड़दियाजाएतोबाकीहरदिनबरसातहुईहै।ऐसेमेंमक्केकीफसलनहींबोईजासकीहै।धानकेलिएअनुकूलमौसमहै,लेकिनधानकीखेतीयहांनहींहोतीहै।किसानोंकाकहनाहैपिछले25वर्षोंमेंजून-जुलाईकेमहीनेमेंइतनीअधिकबरसातपहलेकभीनहींहुई।इससेखरीफकीफसलपरग्रहणलगगयाहै।

एनएच31सेगुजरनाहुआमुहाल

:अधिकबारिशकेचलतेक्षेत्रकीसड़कोंकीस्थितिनारकीयहै।खराबहालतएनएच31कीहै।बैरियाबाजारमेंएनएचकीस्थितिधानकेखेतजैसीहोगईहै।इसपरकीचड़वजलजमावकेकारणआने-जानेवालोंकाबुराहालहै।विकल्पकेअभावमेंलोगइसीकीचड़सेहोकरगुजरनेकोविवशहैं।