संवादसहयोगी,कटड़ा:मौसमनेसोमवारकोकरवटबदली।दिनभररुक-रुककरहुईबारिशकीफुहारोंकेबीचश्रद्धाओंनेमातावैष्णोदेवीकेदरबारमेंहाजिरीलगाई।बारिशसेपिछलेदिनोंसेयात्राकेदौरानगर्मीमहसूसकररहेश्रद्धालुओंकोकाफीराहतमिलीहै।

बारिशसेतापमानमेंआईगिरावटसेहल्कीठंडकाएहसासभीहोरहाहै।बारिशकेकारणकईबारश्रद्धालुमार्गपरबनेशेडमेंआसरालेनेपरमजबूरहुए।बारिशतथातेजहवाओंकेकारणकटड़ासेचलनेवालीहेलीकाप्टरसेवाभीबीच-बीचमेंप्रभावितहुई,अलबत्ताभवनमार्गपरचलनेवालीबैटरीकारसेवाकेसाथहीवैष्णोदेवीभवनतथाभैरवघाटीकेमध्यचलनेवालीपैसेंजरकेबलकारसेवाआमदिनोंकीतरहसुचारुरही।इससेश्रद्धालुओंकोसहूलियतरही।एकाएकबदलेमौसमतथाबारिशकोलेकरआपदाप्रबंधनदलकेसाथहीश्राइनबोर्डप्रशासनकेअधिकारीतथाकर्मचारीलगातारवैष्णोदेवीयात्रापरनिगाहरखेहुएहैं,ताकिश्रद्धालुओंकोकिसीभीतरहकीपरेशानीकासामनानकरनापड़े।वहींलगातारजारीठंडीहवाओंतथाबारिशकेबीचहल्केगर्मकपड़ेपहनश्रद्धालुस्वजनोंकेसाथलगातारभवनकीओररवानाहोतेरहे।7मार्चकोकरीब12000श्रद्धालुओंनेमावैष्णोदेवीकेचरणोंमेंहाजिरीलगाईथी।8मार्चकोदोपहर2:00बजेतककरीब6000श्रद्धालुभवनकीओरप्रस्थानकरचुकेथेऔरश्रद्धालुओंकाआनानिरंतरजारीथा।

मौसममेंबदलावकेबावजूदमाताकेभक्तोंमेंउत्साहबनाहुआहै।दूसरेराज्योंसेश्रद्धालुओंकाक्रमबनाहुआहै।उम्मीदहैकिशिवरात्रिकेमौकेपरभीकाफीसंख्यामेंश्रद्धालुमाताकेदर्शनकरेंगे।