जागरणसंवाददाता,खगड़िया:जिलेकेअधिकांशभागोंमेंमंगलवारकोबारिशहुई।शाममेंतेजहवाकेसाथमुसलाधारबारिशभीहुई।बुधवारकोलगभगदिनभरहल्कीहल्कीबारिशहोतीरही।बारिशकेसाथबढ़ेठंडकेप्रकोपसेलोगपरेशानथे।बेमौसमबरसातनेलोगोंकीपरेशानीऔरबढ़ादीथी।जनवरीमाहमेंसड़कोंपरलोगछातालगाकरआतेजातेनजरआए।वहींबारिशकेकारणशहरमेंजल-जमावसेलोगपरेशानदिखे।सड़कोंपरजलजमाववकीचड़होजानेसेराहगीरोंकोकाफीपरेशानीउठानीपड़रहीथी।इसठंडकेमौसममेंलोगोंकोपानीचलनापड़रहाथा।

रोजकमानेवालोंकोहुईपरेशानी

ठंडकेबीचबारिशहोनेसेसबसेज्यादापरेशानीमजदूरोंकोहुईमजदूरीकरनेवालेलोगबुधवारकोघरबैठेरहगए।सुबहकामपरजानेकेलिएनिकलेजरूरलेकिनबारिशकेबादवापसघरलौटनेपरविवशहोनापड़ा।बारिशकीवजहसेखुलेमेंकामकरनासंभवनहींथा।वहींबाजारमेंभीविरानीछाईरही।

------------कीचड़मेंतब्दीलहुआबाजारकीसड़कें

हल्कीसीबारिशकेबादबाजारकीस्थितिबदतरहोगई।खासकरकेराजेंद्रचौकसेबखरीबसस्टैंडतककीसड़केंनरकमेंतब्दीलहोगई।जर्जरसड़कहोनेकेकारणजगह-जगहगड्ढोंमेंजलजमावकीस्थितिपैदाहोगई।वहींपैदलचलनेवालेलोगोंकेलिएसड़कोंपरफैलाकीचड़परेशानियोंकासबबबनगया।रोजमर्राकेसामानोंकेलिएबाजारनिकलेलोगोंकोअपनेगंतव्यस्थानतकपहुंचनेमेंपरेशानीहोरहीथी।

By Davies