-परिषदीयविद्यालय:::

-शिक्षकोंवशिक्षणेत्तरकर्मचारियोंकीउपस्थितिकानिर्णयलेगाप्रबंधन

-अध्यापकोंकोआवश्यकतानुसारविद्यालयबुलायाजाएगा

-दूसरीलहरमेंमार्चसेहीविद्यालयोबंदकियागयाहै

जागरणसंवाददाता,आजमगढ़:बेसिकशिक्षाविभागसेजुडे़स्कूलपहलीसेआठवींतककेपरिषदीयविद्यालयएकजुलाईसेखुलजाएंगेलेकिनछात्र-छात्राओंकेलिएबंदरहेंगे।परिषदीयविद्यालयोंमेंशिक्षकोंकोआवश्यकतानुसारविद्यालयबुलायाजाएगा।दूसरेबोर्डसेजुड़ेमान्यताप्राप्तविद्यालयोंमेंशिक्षकोंएवंशिक्षणेत्तरकर्मचारियोंकीउपस्थितिकेलिएप्रबंधननिर्णयलेगा।इसकामतलबयहकिछोटेबच्चोंकोस्कूलजानेकेलिएअभीऔरइंतजारकरनाहोगा।2702परिषदीयविद्यालयहैंजिसमेंप्राथमिकविद्यालय1737,उच्चप्राथमिकविद्यालय484वकंपोजिटविद्यालय481हैं।इनमेंपुरानेछात्रोंकीसंख्या4,11,727हैं।कोरोनाकीदूसरीलहरमेंमार्चसेहीविद्यालयोंकोबंदकियागयाहै।

डेढ़सालसेठपहैपठन-पाठन

कोरोनाकेचलतेबच्चोंकीपढ़ाईपरडेढ़सालसेबंदहै।आनलाइनशिक्षाकेनामपरबेसिकशिक्षाविभागकादावाहैकिबच्चोंकोलाभमिलाहैलेकिनग्रामीणक्षेत्रोंमेंइंटरनेटकीसुविधासेअभिभावकपरेशानहैं।ऐसेमेंछोटेबच्चेकितनालाभलेपारहेहैं,इसकासहजअनुमानलगायाजासकताहै।

सचिवकेहैयहआदेश:::

सचिवबेसिकशिक्षापरिषदप्रतापसिंहबघेलकीओरसेजारीपत्रमेंकहागयाहैकिस्कूलखोलेजानेकीअवधिमें100फीसदबच्चोंकाविद्यालयमेंनामांकनकरानाहोगा।मिड-डे-मीलकीधनराशिकोछात्र-छात्राओं,अभिभावकोंकेबैंकखातेमेंसमयसेभेजनेकीव्यवस्थाकरनीहोगी।निश्शुल्ककिताबोंकावितरण,मिशनप्रेरणाकेकार्योंमेंसहयोगएवंजिलाप्रशासनएवंशिक्षाविभागकेकार्योमेंसहयोगकरनाहोगा।

परिषदीयविद्यालयोंकेबच्चोंकीपढ़ाईकानुकसाननहोइसकेलिएमिशनप्रेरणाकेजरिएई-पाठशालाचलायाजारहाहै।सभीप्रधानाचार्य,शिक्षकऔरसमाजकेजागरूकलोगभीजुड़ेहैं।दूरदर्शन(डीडी)परभीअलग-अलगदिनोंकोविषयवारपढ़ाईहोरहीहै।स्कूलोंकेखुलनेकेबादनएसत्रमेंअलगतरीकेसेपठन-पाठनकीशुरुआतकीजाएगी।

--अंबरीषकुमार,जिलाबेसिकशिक्षाअधिकारी।

By Davies