औरंगाबाद(सीतापुर):स्कूलमेंवायरिगखुलीहै,बाउंड्रीबनरहीहै।विद्यालयस्टॉफकमहै..आदिसमस्याबताकरबुधवारकोमास्टरजीनेबच्चोंकोस्कूलसेखदेड़दिया।स्कूलटाइमक्याहै,मास्टरजीकोनहींपता..।मामलारहिमाबादप्राथमिकविद्यालयकाहै।बुधवारकोमध्याह्नके11.50बजरहेथे।69बच्चेयूनीफार्ममेंडरे-सहमेस्कूलकेबाहरबाउंड्रीकेपासछायामेंबैठेथे।पूछनेपरबच्चेवअभिभावकोंनेबतायाकि,मास्टरजीनेस्कूलसेभगादियाहैऔरसभीकक्षा-कक्षोंतालालगादियाहै।इसलिएवेलोगस्कूलसेबाहरबैठेहैं।घरनजाकरबाहरबैठनेकाकारणबच्चोंनेबतायाकि,स्कूलमेंमध्याह्नभोजनबनचुकाहै।इसलिएरसोइयानेखानादेनेकेलिएरोकाहै।बच्चोंनेकहा,सरकारीआहारकेतौरपरबुधवारकोफल-दूधमिलनेकादिनहैपर,महीनोंसेउन्हेंकिसीतरहकेफल-दूधखानेकोनहींमिलाहै।स्कूलकेबाहरबच्चोंकोखानापरोसाजारहाथातभीमास्टरजीवहींपहुंचे।रसोइयानेउनसेखानाचखनेकानिवेदनकियातोबोले,वेगंदा-संदाभोजननहींखाते।धीरे-धीरेकर12बजेतकबच्चेमध्याह्नभोजनखाकरघरचलेगएथे।कुछदेरबादमास्टरजीभीअपनीकारसेगंतव्यस्थानकेलिएरवानाहोगए।येहैमास्टरजीकावाहन..

येकारमास्टरजी(प्रधानाध्यापकराजीवविक्रमनिराला)कीहै।इसीसेस्कूलसेआते-जातेहैं।कारकीनंबरप्लेटपर'उत्तरप्रदेशसरकार'लिखारखाहैऔरराज्यसरकारकी'मुहर'भीपेंटहै।पूछनेपरबताया,येकारउन्हेंनिर्वाचनआयोगनेदीहै।दोनिजीसहयोगीरखे

प्रधानाध्यापकनेबतायाकि,स्कूलमेंकुल264बच्चेहैं।इनकोपढ़ानेकेलिएसरकारीस्टॉफकेसाथहीउन्होंनेदोयुवतियोंकोनिजीसहयोगीकेतौरपरस्कूलमेंरखेहैं।सदरीपरनेमप्लेट

प्रधानाध्यापकराजीवविक्रमनिराला,काफीशौकीनहैं।वेसदरीपहनतेहैंऔरउसपरनेमप्लेटलगारखेहैं।नेमप्लेटमेंडॉ.राजीवविक्रमनिराला,पुरातत्वविदलिखाहोनेकेसाथमोबाइलनंबरभीडालरखाहै।बोलेजिम्मेदार

वायरिगखुलीहै।निर्माणकार्यचलरहाहै।स्कूलमेंस्टॉफकमहै।इन्हींकईखतरोंकोदेखतेहुएबच्चोंकोछुट्टीदीहै।

-राजीवविक्रम,प्रधानाध्यापक-प्राथमिकविद्यालयरहिमाबादमामलेकीजानकारीकरप्रकरणकोनिस्तारितकरूंगा।

-छोटेलाल,खंडशिक्षाअधिकारी-मिश्रिख