देवघर:जिलाशिक्षाअधीक्षकछट्टूविजय¨सहकेफरमानकाकईनिजीविद्यालयप्रबंधनपरकोईअसरनहींहै।शायदयहीकारणहैकिआजभीतकरीबनसवासौविद्यालयजिलेमेंबगैरकिसीमान्यताकेसंचालितहैं।यहीनहींइनविद्यालयप्रबंधनोंनेमान्यताकेलिएप्रयासभीनहींकिया।इससेसंबंधितडीएसईद्वारादिशानिर्देशजारीकिएकिएहुएतीनमाहसेअधिककासमयबीतगयाहै।इससंबंधमेंडीएसईद्वाराजारीपत्रमेंयहभीचेतावनीदीगईथीकिमान्यतानहींलेनेवालेविद्यालयोंमेंनामांकनबंदकरतालालटकादियाजाएगा।लेकिनजोस्थितिहै,उसेदेखकरयहीकहाजासकताहैकिडीएसईकेइसफरमानकोकोईअसरनहींहै।

क्याहैमामला:जिलेमेंतकरीबन211निजीविद्यालयसंचालितहैं।इसमें35विद्यालयोंकीमान्यतापूर्वसेहै।तीनमाहपूर्वडीएसईनेएकपत्रजारीकरनिजीविद्यालयप्रबंधनकोमान्यताकेलिएडीएसईकार्यालयमेंआवेदनकरनेकानिर्देशदियाथा।इसपत्रकेसाथएकप्रपत्रभीदियागयाथा,जिसकेअनुसारनिजीविद्यालयप्रबंधनकोआवेदनकेसाथजमीनसंबंधितकागजातएनजीओयाट्रस्टकेअधीनसंचालितहैतोउसकाडीड,तीनसालकाऑडिट,शिक्षकोंकाबायोडाटाकेअलावाबच्चोंकाआधारकेसाथप्रबंधनकोकार्यरतकर्मियोंकाचरित्रप्रमाणपत्रलिखकरदेनाथा।इसकेसाथहीविद्यालयकेक्लासरूमवशौचालयकेसाथअन्यआधारभूतसुविधाओंकीतस्वीरभीदेनीथी।इसकेबादडीएसईअपनेस्तरसेविद्यालयोंकीजांचकरकरमान्यताकेलिएनिदेशालयकोअनुशंसाकरते।लेकिनशिक्षापरियोजनाकार्यालय,देवघरसेमिलीजानकारीकेअनुसारइनतीनमहीनोंमेंमहज51विद्यालयोंनेहीमान्यताकेलिएआवेदनदिया,जिसकेआधारपरडीएसईनेजांचकरमान्यताकेलिएनिदेशालयसेअनुशंसाभीकीहै।निदेशालयकीओरसेवर्गअष्टमतककीपढ़ाईकेलिएमान्यतादीजाएगी।तकरीबनसवासौविद्यालयोंनेअभीतकआवेदननहींदियाहै।वहींपरियोजनाकार्यालयऐसेविद्यालयोंकेसाथक्याकियाजाए,इसकेलिएराज्यकार्यालयकेदिशानिर्देशकाइंतजारकररहाहै।

By Davies