बातइसीसालकेजनवरीमाहकीहै.नोटबंदीनेहरतरफएकअफरा-तफरीकामाहौलबनादियाथा.एटीएममशीनकेबाहरलंबी-लंबीकतारेंलगीहुईथी,जिसमेलोगपैसानिकालनेकीजद्दोजहदमेंलगेहुएथे.इनहालातोंकोदेखकरलगभगसभीमीडियाकर्मियों/राजनीतिकविश्लेषकोंनेयहमानहीलियाथाकि‘नोटबंदी’बीजेपीकेलिए‘वोट-बंदी’साबितहोगी,अर्थातआगामीउत्तरप्रदेशविधानसभाचुनावमेंबीजेपीकासूपड़ासाफ़होजाएगा.ऐसेमेंएकपत्रकारनेविपरीतधारामेंयहलिखाकिनोटबंदीकोबीजेपीकेताबूतकीकीलमानलेनाशायदठीकनहींहोगाऔरपरेशानहोनेकेबावजूदलोग‘आतंकवादऔरभ्रष्टाचारकेखिलाफ़एकसाहसिककदम’केरूपमेंइसकासमर्थनकररहेहैंजिसकापरिणामशायदबीजेपीकेहितमेंजाए.औरऐसाहुआभी,बीजेपीकोउत्तरप्रदेशचुनावमेंएतिहासिकजीतऔरप्रचंडबहुमतहासिलहुआ.उत्तरप्रदेशकेकईज़िलोंमेंघूम-घूमकरअपनीरिपोर्टऔरअपनानिष्कर्षलिखनेवालेयहपत्रकारथेप्रशांतझा.

प्रशांतझाजाने-मानेलेखकहोनेकेअलावाअंग्रेजीसमाचार-पत्रहिंदुस्तानटाइम्सकेएसोसिएटएडिटरभीहैंऔरअपनीनिष्पक्षताऔरकईचुनावोंकोकवरकरकेअपनीमज़बूतग्राउंडरिपोर्टिंगकेलिएजानेजातेहैं.उनकीइसीराजनीतिकसूझबूझ,कठोरग्राउंडरिपोर्टिंगऔरलंबीशोधकालेखा-जोखाहैउनकीनयीपुस्तकHowtheBJPwins:InsideIndia’sGreatestElectionMachine.लगभगढाईसौपन्नोंकीयहपुस्तकबीजेपीसमर्थकोंऔरबीजेपीआलोचकोंदोनोंकेलिएपढ़नाबहुतहीज़रूरीहैताकिवोयहसमझसकेंकिआखिरऐसाक्याकारणहैकिजिससेबीजेपीसाल2014सेएककेबादएकचुनावजीततीचलीजारहीहैऔरउसकाविजय-रथदिल्लीऔरबिहारमेंझटकेखानेकेबादभीउत्तरप्रदेशमेंइतनेव्यापकरूपसेकैसेउभरा.सातभागोंमेंबंटीयहपुस्तकहरउसपहलुपररौशनीडालतीहैजिससेबीजेपीका‘विनिंगफ़ॉर्मूला’तैयारहोताहै,फिरचाहेवोउसकी‘सोशलइंजीनियरिंग’और‘सोशलमीडिया’हो,परोक्षरूपसेध्रुवीकरणकासमर्थनकरनायाउसकोबढ़ावादेनाहो,संघपरिवारकाव्यापकनेटवर्कऔरसंगठनहोयाप्रधानमंत्रीमोदीकीलोकप्रियता.

झाकामाननाहैकिदोकारणोंसेबीजेपीआजइतनीसशक्तस्थितिमेंपहुंचीहै-पहलाहैप्रधानमंत्रीमोदीकीख्यातिऔरएक कर्मठ,जुझारु,साफ़-सुथरीछविऔरदूसराहैपार्टीअध्यक्षअमितशाहकीचुनावीऔरसंगठनात्मकरणनीतिजिससेवोआजबीजेपीकोदेशहीनहींदुनियाकीसबसेबड़ीपार्टीहोनेकादावाकरतेहैंऔरसंसदसेलेकरबूथस्तरतककेप्लानभीवोहीबनातेहैं.झाकेअनुसारउत्तरप्रदेशमेंमोदीस्वयंएक‘कम्पलीटपैकेज’केरूपमेंपेशकियेगए.

लगभग70प्रतिशतदलितऔरपिछड़ेजातियोंकीजनसंख्यावालेप्रदेशमेंमोदीएक‘पिछड़े’जातिकेनेताबनकरजनताकेबीचगएजोअपनीहिन्दुत्ववादीऔरविकासवादीछविकोसाथलेकरचलताहैऔरऐसाकरनेमेंवोगर्वमहसूसकरताहै.अपनीसरकारकीसभीसामाजिककल्याणकारीयोजनाओंकोऔरयहाँतककिनोटबंदीकोभीउन्होंनेगरीबोंकेहितमेंऔरआतंकवाद,भ्रष्टाचारकोख़त्मकरनेवालेएक‘बलिदानी’कदमऔर‘आहुति’केरूपमेंप्रस्तुतकियाजिसकोप्रदेशकीजनतानेपरेशानियोंकेबावजूदभीहाथों-हाथलिया.मोदीकोअपनीहिन्दुत्ववादीछविबनानेकेलिएकुछभीकरनानहींपड़ाक्योंकिविपक्षकेहमलोंकाकारणउत्तरप्रदेशमेंवैसेहीचुनावमेंवोएक‘हिन्दू-नेता’केरूपमेंदेखेजानेलगेथे.

झामानतेहैंकिअमितशाहनेपार्टीमेंजिसतरहसेपरिवर्तनकियाऔरउसकोअधिकसेअधिकसमावेशीबनानेकाप्रयासकिया उससेबीजेपीउनसमुदायोंतकभीअपनीअच्छीपैठबनासकीजोअन्यपार्टियोंकेवोटबैंकमानेजातेथे.बीजेपीनेअपनीछविएक‘ब्राह्मण-बनिया’पार्टीकोबदलनेकेलिएएकनयीसोशलइंजीनियरिंगकी.सवर्णोंकोसाथलेनेकेअलावाबीजेपीनेगैर-यादवपिछड़ीजातियोंऔरगैर-जाटवदलितोंकोअपनेखेमेमेंलानाशुरूकियाजोसत्तामेंअपनेहिस्सेकीभागीदारीचाहरहेथे.

झासेसाक्षात्कारकेदौरानबीजेपीकेराज्यसभासदस्यऔरपार्टीकेबड़ेनेताभूपेंद्रयादवनेबतायाकिक्योंकिप्रदेशकेमुसलमान,जोकी20प्रतिशतहैं,जाटवदलित,जोकिबसपासमर्थकहैं,औरयादव,जोकिसपासमर्थकहैं,बीजेपीकोवोटदेंगेनहीं,इसलिएपार्टीनेअपनासाराध्यानअन्य55-60%जनतापरकेन्द्रितकिया.इसकेलिएपार्टीकीकमानपिछड़ीजातिसेआनेवालेकट्टरहिंदूवादीसमझेजानेवालेसांसदकेशवमौर्याकोदेदीगईऔरअन्यपार्टियोंकेबड़ेऔरप्रभावशालीनेताओंकोपार्टीमेंजगहऔरटिकेटदोनोंहीदिएगए,फिरचाहेवोबसपासेआएस्वामीप्रसादमौर्याहोंयाकांग्रेससेआईरीताबहुगुणाजोशी.

झावर्णनकरतेहैंकीजिनराज्योंमेंपार्टीकमज़ोरहैयारहीहैवहांपरपार्टीनेतीनसिद्धांतोंकासहारालेकरअपनाआधारबढ़ायाहै.पहला,उसराज्यकेबड़ेराजनीतिकव्यक्तिकोअपनीपार्टीमेंशामिलकरना,जैसाकिपार्टीनेअसममेंकियाजहाँपरकांग्रेसकेबड़ेनेताऔरमंत्रीरहेहिमंताबिस्वासरमाकोपार्टीमेंशामिलकरवायाजिससेपार्टीकोपूरेपूर्वोत्तरमेंअपनेआधारऔरसरकारदोनोंबनानेकामौकामिला.कुछऐसाहीरणनीतिपार्टीनेमणिपुरमेंभीअपनाईजहाँपूर्वकीकांग्रेससरकारमेंमंत्रीरहेंएन.बिरेनसिंहकोपार्टीनेशामिलकरकेउनकोमणिपुरमेंबीजेपीकापहलामुख्यमंत्रीभीबनादिया.

दूसराहैअपनीमूलविचारधाराकेसाथथोड़ासमझौताकरलेनायाकहाजाएथोड़ा‘फ्लेक्सिबल’होना.मसलनराज्योंकीजन-भावनाऔरसंस्कृतिकोदेखतेहुएबीजेपीनेबीफ-बैनऔरउससेसम्बंधितराजनीतिकोपूर्वोत्तरराज्यमेंबिलकुलभीइस्तेमालनहींकिया.तीसराहैज़मीनीहकीकतकोसमझतेहुएव्यावहारिकदृष्टिकोण.सामान्यरूपसेकिसीभीएनकाउंटरको‘राष्ट्रीयसुरक्षा’काहवालादेकरउसकेऊपरप्रश्ननउठानेवालीपार्टीनेस्वयंमणिपुरमेंसुरक्षाबलोंद्वारातथाकथितफर्जीएनकाउंटर(extrajudicialkilling)कामुद्दाउठाया.

साम्प्रदायिकताकोलेकरझाबीजेपीकीआलोचनाकरतेहुएकहतेहैंकिपार्टीकेकुछनेताओंनेचुनावमेंधार्मिकध्रुवीकरणलानेकीकोशिशभीकीऔरचुनावको‘हिन्दू-मुस्लिम’मुद्दाबनानेकाप्रयासकिया.झाकेअनुसारइसकाकारणहैपार्टीकीयहसोचकिजिसराज्यमेंलघभग20प्रतिशतमुस्लिमजनसंख्याहैऔरजोबीजेपीकोबिलकुलभीवोटनहींदेनाचाहती,वहांपरपार्टीकेपासजातिसेऊपरउठकर‘हिन्दूएकता’काकार्डखेलनेकेअलावाऔरकोईचाराभीनहींथा,क्योंकीकहींनकहींसभीजातियोंमेंयहभावनाथीकिअन्यदलमुस्लिमतुष्टिकरणमेंलगेहुएहैं,जिसकाफायदाबीजेपीकोहुआ.झामानतेहैंकिबीजेपीयदिसचमुचमेंसमावेशीदलकेरूपमेंउभरनाचाहतीहैतोउसकोअपनेनारे‘सबकासाथ,सबकाविकास’कोज़मीनपरलागूकरनाहोगा.इसकेलिएउसकोमुस्लिमसमुदायमेंव्याप्तभयऔरचिंताओंकोदूरकरनाहोगाजोकाफ़ीहदतकभ्रमभीहैऔरहकीकतभी,औरजिसकोसमय-समयपरपार्टीकेहीकुछनेताअपनेउग्रबयानोंसेऔरभीताज़ाकरदेतेहैं.

झायहभीमानतेहैंकिभलेहीपार्टीने‘हिन्दू-एकता’केनामपरचुनावजीतलियाहोलेकिनप्रशासनिकऔरसामाजिकस्तरपरइसकोबरक़राररखनापार्टीकेलिएएकबड़ीचुनौतीहोगीक्योंकिपार्टीकेसवर्णसमर्थकऔरनेताऔरपिछड़े,दलितसमर्थकोंऔरनेताओंकेहितोंमेंकईमतभेदहोनालाज़मीहै.सहारनपुरइसकाएकउदहारणमात्रहै,जहाँकुछसमयपहलेदोजातियोंमेंहिंसकझड़पेंहुईथी.बीजेपीकेविरोधियोंकेलिएभीयहपुस्तकबहुतलाभकारीहोसकतीहैक्योंकीइसमेंझापार्टीकिकमियों,उसकीकथनीऔरकरनीकेबीचकेविरोधाभासोंऔरउसकीवैचारिकखामियोंकोखुलकेउजागरकरतेहैं.

झाजैसेपत्रकारोंद्वारालिखीगयीपुस्तकोंकासबसेबड़ालाभयहहोताहैकिइसमेंदियाहुआज्ञानज्यादातरएकनिष्पक्षग्राउंडरिपोर्टिंग,आमजनतासेबातचीतऔरअनेकपार्टीकेनेताओंसेसाक्षात्कारसेउत्पन्नहोताहै,जिसकोपढ़करऐसाअनुभवहोताहैकिपाठकस्वयंउनसबगतिविधियोंकाहिस्साहैऔरजैसेकिहरएकचीज़उसकेसामनेहीघटितहोरहीहो.अफ़सोसऐसीपुस्तकेंहिंदीमेंकमहीआतीहैंऔरमेरेअनुसारझाकोइसकाहिंदीअनुवादभीजल्दसेजल्दलानचाहिएजिससेख़ासतौरपरउत्तरप्रदेशकीवोहिंदी-भाषीजनतापढ़सके,जिनकेऊपरशोधकरकेऔरजिनकेबारेमेंचर्चाऔरज़िक्रकरकेझानेयहबेहतरीनपुस्तकलिखीहै.