नयीदिल्ली,12जनवरी::प्राचीनधरोहरोंकीदेखरेखकरनेवालेभारतीयपुरातत्वसर्वेक्षण:एएसआई:केपासइसबातकाकोईरिकॉर्डनहींहैकिसफेदसंगमरमरसेबनेताजमहलकेआसपासकाकितनाक्षेत्रसंरक्षितहैजिसमेंकोईभीनयानिर्माणनिषेद्यहै।केन्द्रीयसूचनाआयोगमेंदायरकीगयीएकआरटीआईसेयहआश्चर्यजनकतथ्यसामनेआयाहै।एकआरटीआईयाचिकाकर्तानेताजमहलकेआसपाससंरक्षितक्षेत्रकीजानकारीमांगीथीजिसक्षेत्रमेंनिर्माणकरनेकीमनाहीहै।याचिकाकर्ता,मुगलबादशाहशाहजहांऔरउनकीबेगममुमताजमहलकेमकबरेकेआसपास500मीटरकेदायरेकेसीमांकनकीजानकारीचाहताथाजिसकेतहतकोईभीनयानिर्माणनिषेद्यहै।एएसआईकेकेन्द्रीयजनसूचनाअधिकारी:सीपीआईओ:नेकहाकिउनकेपासइसकेबारेमेंकोईरिकॉर्डउपलब्धनहींहै।इसजवाबपरनाराजगीजतातेहुयेसूचनाआयुक्तश्रीधरआचार्युलुनेकहाकियहसरकारकाकामहैकिवहताजमहलजैसीराष्ट्रीयमहत्वकीसंरक्षितधरोहरकेआसपासनिर्माणगतिविधिनियंत्रितकरें।उन्होंनेकहाकिताजमहलकोवर्ष1983मेंविश्वधरोहरस्थलघोषितकियागयाथाऔरहरसालदुनियाभरसेकरीब30लाखपर्यटकताजमहलकादीदारकरनेआतेहैं।आयोगनेसूचनानहोनेकाकारणबतानेकेलिएसीपीआईओकोकारणबताओनोटिसजारीकियाऔरसाथहीएएसआईकोनिर्देशदियाकिवहएकअधिकारीनियुक्तकरेंजोसंरक्षितक्षेत्रमेंरहनेवालेलोगोंकीपरेशानियोंकीशिकायतोंकारिकॉर्डरखेगा।

By Dale