जेएनएन,होशियारपुर

हरसाल22दिसंबरकोदेशमेंराष्ट्रीयगणितदिवसमनायाजाताहै।यहदेशकेमहानगणितज्ञश्रीनिवासरामानुजनकोसमर्पितहैजिनकाजन्म22दिसंबर,1887कोहुआथा।सिर्फ32सालकीजिदगीजीनेवालेरामानुजननेकमसमयमेंहीकुछऐसाकामकरदियाकिउनकानामगणितीयइतिहासमेंअमरहोगया।उक्तबातएसएवीजैनडेबोर्डिंगस्कूलकेप्रधानजीवनजैननेआयोजितएकवेबिनारकोसंबोधितकरतेहुएकही।

गणितकेक्षेत्रकीबातकीजाएतोरामानुजनगौस,यूलरऔरआर्किमिडीजसेकमनहींथे।उन्होंनेकिसीभीतरहकीऔपचारिकशिक्षानहींलीथी,लेकिनऐसी-ऐसीखोजेंकीकिबड़े-बड़ेगणितज्ञभीहैरानरहगए।गणितकामानवताकेविकासमेंबड़ामहत्वहै।इसमहत्वकेप्रतिलोगोंकेबीचजागरूकतापैदाकरनाराष्ट्रीयगणितदिवसकामुख्यमकसदहै।गणितकोआसानबनानेऔरलोगोंकेबीचइसकीलोकप्रियताबढ़ानेकेलिएकईप्रयासकिएगएहैं।

स्कूलमेंछठीक्लाससेलेकर10वींक्लासतकबच्चोंद्वारामैथकेमाडलभीबनवाएगएजिनमेंसेपहले,दूसरेऔरतीसरेस्थानपरबच्चोंकोनिकालागया।स्कूलकेडीनसुनितादुग्गलनेबतायाकिछठीकक्षामेंतीक्शारानी,ईशप्रीतकौर,मुदित्ताचौबे,सातवींकक्षामेंआसकिरन,अमृतऔरलक्षयशर्मा,नौवींमेंध्रुवनरुला,हिमानी,जैसमीनकौरक्रमश:पहले,दूसरेऔरतीसरेस्थानपररही,10वींमेंकरीनानेपहलाऔरमोहितनेदूसरास्थानहासिलकिया।

By Davison