संजीवमंगला,पलवल

आमतौरपरमहिलासरपंचोंकेस्थानपरउनकेपतियापुत्रहीकामकरतेहैं,लेकिनजिलेमेंएकगांवऐसाभीहै,जहांकीशिक्षितमहिलासरपंचनकेवलखुदविकासकार्योंमेंरुचिलेतीहै,बल्किउन्होंनेगांवकानक्शाहीबदलदियाहै।गांवमेंजानेपरऐसालगताहैकिजैसेकिसीप्रगतिशीलशहरमेंआगएहों।येहैंजनाचौलीगांवकीसरपंचगीतादेवी।सुपरविलेजचैलेंजप्रतियोगितामेंउनकागांवअपनेखंडमेंपहलेस्थानपरतथाजिलेमेंदूसरेस्थानपरहै।

38वर्षीयागीतादेवीनेअंग्रेजी,इतिहासतथायोगमेंमास्टरडिग्रीलीहुईहै।वेबीएडकरनेकेबादशिक्षिकाभीरहीं,परंतुलोगोंकीमांगपरसरपंचकाचुनावजीतनेकेबादउन्होंनेनौकरीछोड़करगांवकीसेवाकरनास्वीकारकिया।आजगांवमेंविकासकार्योंकीलहरआईहुईहै।वेकईबारसम्मानितभीहोचुकीहैं।करीबचारहजारकीआबादीवालीजनाचौलीग्रामपंचायतमेंआलूकागांवभीआताहै।

शिक्षासेजुड़ीगीतादेवीनेसबसेपहलाकार्यगांवकेसरकारीमाध्यमिकविद्यालयकोमॉडलस्कूलबनाकरकियाहै।अबइसस्कूलमेंकंप्यूटरसेलेकरएजुसेटकेमाध्यमसेशिक्षादीजातीहै।स्कूलमेंकुर्सियां,बैंच,पुस्तकालय,रास्तेंसभीदेखनेलायकहैं।स्कूलकापार्कसभीकोआकर्षितकरताहै।इसस्कूलकोदेखनेसमय-समयपरलोगआतेरहतेहैं।स्कूलमेंस्टाफभीपूराहै।गीतादेवीस्वयंस्कूलमेंजाकरकक्षाएंलेतीहैंतथाजरूरतमंदविद्यार्थियोंकीमददभीकरतीहै।इसीतरहगीतादेवीनेगांवकीआंगनवाड़ीकोभीआधुनिकबनादियाहै।आंगनवाड़ीकीदीवारोंकोनामीप्लेस्कूलोंकीतरहपें¨टगकीहुईहै।झूले,कुर्सियां,स्वच्छपेयजल,पक्काग्राउंडलोगोंकोआकर्षितकरताहै।

गीतादेवीग्रामीणोंकेस्वास्थ्यकाभीपूराध्यानरखतीहैं।घर-घरजाकरउन्होंनेशत-प्रतिशतटीकाकरणकाकार्यकरादियाहै।पल्स-पोलियोअभियानकोभीगांवमेंपूराकरादियागयाहै।महिलासशक्तिकरणकेक्षेत्रमेंउन्होंनेगांवमें14स्वयंसहायतासमूहगठितकरादिएहैं।इनसमूहोंकेमाध्यमसेमहिलाएंआत्मनिर्भरहोनेकाप्रयासकररहीहैं।महिलाओंकेलिएउन्होंनेअलगसेवाचनालयभीबनवायाहै।हालांकिपुरुषोंकेलिएभीवाचनालयबनवायागयाहै।गांवकेसुंदरीकरणकेतहतअनेकपेड़लगवाएहैं।गांवमेंघुसतेहीफुलवारीलोगोंकास्वागतकरतीहै।पशुओंकाअस्पतालशुरूकरवायाहै।गांवमेंरोजगारशिविरलगवाकरयुवाओंकोआत्मनिर्भरबनानेकेलिएकाफीप्रयासकिएगएहैं।

मुझेसमाजसेवाकाबचपनसेहीशोकहै।सरपंचबननेकेबादमैंगांवकेविकासमेंजुटीहुईहूं।इसकार्यमेंमुझेमेरेपरिवारकापूरासहयोगमिलताहै।प्रशासनभीविकासकार्योंमेंहमारीमददकरताहै।मैंचाहतीहूंकिमेरागांवहरियाणाकानंबरवनगांवबने।इसकेलिएमेरेप्रयासनिरंतरजारीहै।

-गीतादेवी,सरपंचजनाचौली

By Davey