संवादसूत्र,कान्हाचट्टी(चतरा):प्रखंडमेंबीतेचार-पांचदिनसेबारिशनहींहोनेकेकारणकिसानकाफीपरेशानथे।धनरोपनीकार्यप्रभावितहोरहाथा।हालांकिजहांजिनकिसानोंकासाधनहै।वहांपरपटवनकरधनरोपाईकाकार्यचलरहाथा।परंतुमंगलवारशामकोतकरीबन2घंटेहुईझमाझमबारिशसेकिसानोंनेराहतकीसांसलीहै।इसकेसाथहीधानरोपाईकेलिएतैयारकिएगएखेतोंमेंअबपुन:रोपाईकाकार्यप्रारंभहोजाएगा।हालांकिप्रखंडकेकईपंचायतोंकेगांवमेंअभीभीपानीकेअभावमेंधनरोपनीकाकार्यशुरूनहींहोपायाहै।जैसेतुलबुलपंचायतकापिपरागांवचिरिदिरीपंचायतकेनावाडीहसहितआधेदर्जनगांवशामिलहै।गांवकेकिसानोंकाकहनाहै।किटाटहटनखेतोंमेंइतनीबारिशसेजलकाजमावनहींहोपायाहै।जिसकेकारणधनरोपाईकाकार्यप्रारंभनहींकरपारहेहैं।

By Davis