जागरणसंवाददाता,ऊना:कृषिमंत्रीडॉ.रामलालमार्कंडेयनेकहाकिप्रदेशकेसभीजिलोंमेंकृषिक्षेत्रकोविकसितकियाजाएगा।इसकेलिएविभागअपनेस्तरपरसभीजिलोंसेफीडबैकलेरहाहै।रविवारकोऊनामेंआयोजितपत्रकारवार्तामेंमार्कंडेयनेकहाकिप्रदेशकेसभीजिलोंमेंउपायुक्तोंकीअध्यक्षतामेंकमेटियोंकागठनकियाजाएगा।इनकेमाध्यमसेकिसानोंकेलिएनीतिबनाईजाएगीताकिउनकीसमस्याओंकासमाधानहोसके।किसानचाहेकांगडाकाहो,लाहुलकाहोयाफिरमंडी,शिमलाका,सबकीअलग-अलगतरहकीसमस्याएंहैं।

जयरामठाकुरसरकारनेफैसलालियाहैकिप्रदेशकेहरमहकमेको100दिनकेअंदरअपनाविजनक्लीयरकरनेकेसाथहीतयसमयमेंबेहतरपरिणामभीदिखानेहोंगे।

फसलोंकोजंगलीजानवरोंऔरलावारिसपशुओंसेबचानेकेलिएठोसकदमउठाएजाएंगे।इसकेलिएजिलास्तरपरकृषिविभागजागरूकताशिविरोंकाआयोजनकरेगा।किसानोंकोफसलबीमायोजनाकेसाथजोड़ाजाएगा।जिनफसलोंकासमर्थनमूल्यतयनहींकियागयाहै,उनकीपैदावारवक्षमताकोध्यानमेंरखतेहुएसमर्थनमूल्यबढ़ानेपरभीविचारकियाजाएगा।

मार्कंडेयनेकहाकिप्रदेशकेजिनक्षेत्रोंमें¨सचाईयोग्यपानीकीकमीहै,वहांपरभी¨सचाईविभागसेआपसीतालमेलकियाजाएगा।प्रदेशकेअंदरकृषिक्षेत्रकोविकसितकरनेवनईतकनीककेआदान-प्रदानकेलिएकिसानोंकेप्रदेशकेबाहरभीभ्रमणकरवाएजाएंगे।इसअवसरपरउनकेसाथहरोलीक्षेत्रसेभाजपानेताप्रो.रामकुमारशर्माभीमौजूदरहे।

By Davies