सम्मेलनमेंभागवतनेकहाकिभारतीयमजदूरसंघकोअसंगठितक्षेत्रमेंअपनेकार्यकाविस्तारदेनाचाहिए,ताकिवहांबदलावलायाजासके।सम्मेलनमेंदेशकेकरीबछहहजारसंघोंऔर40सेक्टरोंकेपरिसंघोंकेतीनहजारसेअधिकप्रतिनिधिशामिलहुए।

संघप्रमुखनेकहाकिबीएमएसकोशोषणमुक्तभारतबनानेकेलिएकामकरनाचाहिए,ताकिहरकिसीकोन्यायमिले।बीएमएसकोसमाजकेहाशिएकेतबकेकेविकासकेलिएकामकरनेवालेदूसरेसमानविचारोंवालेऔरप्रतिबद्धसंगठनोंकेसाथमिलकरकामकरनाचाहिए।

उन्होंनेश्रमक्षेत्रमेंनईकार्यसंस्कृतिबनानेऔरउसकेविकासकेलिएकामकरनेकाआह्वानकिया।उन्होंनेकहाकिबीएमएसमजदूरोंकेअधिकारोंऔरउनकेकल्याणकेलक्ष्यकोहासिलकरनेकेलिए'संघर्षऔरसंवाद'केसिद्धांतपरकामकररहाहै।

चर्चामेंशिक्षा,स्वरोजगारऔरआत्मनिर्भरताजैसेक्षेत्रोंमेंसंघद्वाराकिएगएकार्योंपरभीबातकीगई।भागवतनेशिक्षाकेक्षेत्रमेंसंघद्वाराकिएजारहेकार्योंपरचर्चाकरतेहुएकहाकिइसकाहलस्कूलनिदेशकों,शिक्षकों,अभिभावकोंऔरडोनर्सकेसाथविचार-विमर्शकरकेनिकालाजानाचाहिए।

आरएसएसप्रमुखनेकहाकिसामाजिकसद्भावबैठकेंआयोजितकीजानीचाहिएताकिसमाजमेंव्याप्तकुप्रथाओंकोमिटायाजासकेऔरदेशकीसमस्याओंकोसमाजिक-स्तरपरहलकियाजासके।चर्चाकेबादजयपुरप्रांतसंघचालकमहेंद्रसिंहमग्गो(MahendraSinghMaggo)नेकहाकिबैठकमेंकोरोनोवायरसलॉकडाउनकेदौरानअन्यसंगठनोंकेसाथसंघद्वाराकिएगएकार्योंपरचर्चाकीगई।