जागरणसंवाददाता,कठुआ:इसेविडंबनाकहाजाएगायाप्रशासनिकवजनप्रतिनिधियोंकीसुस्ती,जिसकामकोमात्रदोसाललगनेथे,उसे15साललगादिए,लेकिनफिरभीदेर-आयद,दुरुस्तआयदहीकहाजाएगा,क्योंकिबुधवारकादिनकठुआकेंद्रीयप्रशासनएवंवहांकेकरीबसातसौविद्यार्थियोंकेलिएबड़ीखुशियांलेकरआया।विद्यार्थियोंकोलंबेइंतजारकेबादआखिरकारअपनीनईइमारतमिलगई।इससेपहलेवीरवारअधिकारिकएवंऔपचारिकताकेतौरपरवहांपरकक्षाएंशुरूहोजाएंगी,विद्यार्थियोंकोउनकीअपनीनईइमारतदिखानेकेलिएकठुआकेंद्रीयविद्यालयप्रशासननेविद्यार्थियोंकोवहांकाविजिटकरवाया।वहांपहुंचतेहीविद्यार्थीअपनेस्कूलकीनईइमारतदेखकरचहकउठे।इसखुशीमेंकेंद्रीयविद्यालयकेप्रिंसिपलराजवीरसिंहनेबच्चोंकामिठाईखिलाकरमुंहमीठाकराया।इसमौकेपरविद्यालयकेकुछस्टाफसदस्यभीमौजूदरहे।कालीबड़ीसेजंगलोटगांवकोजोड़नेवालेमार्गपररेलवेट्रैककेआगेबनीनईइमारतपर25करोड़रुपयेखर्चहुएहैं।जिसकानिर्माणसीपीडब्ल्यूडीनेकरायाहै।वीरवारइमारतकोस्कूलकोसौंपनेकेलिएकेंद्रीयराज्यमंत्रीडॉ.जितेंद्रसिंहऔपचारिकरूपसेउद्घाटनकरनेआरहेहैं।

बतादेंकिवर्ष2003सेकेंद्रीयविद्यालयशहरकेबीचपुरानेजिलाअस्पतालकीजर्जरइमारतमेंअस्थायीतौरपरचलायाजारहाथा।इमारतभीपर्याप्तनहोनेकेकारणआजतक11वींऔर12वींकक्षाएंभीनहींलगपाई।इसकेअलावाकईसेक्शनभीकमथीं।सुविधाविहीनइमारतकेअभावमेंजहांविद्यार्थियोंकोपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ताथा,वहींस्टाफसदस्योंकोभी।स्कूलकाखेलमैदानभीनहींथा।

By Dobson