:गुंजमशर्मा:नयीदिल्ली,19मई(भाषा)आमिरखानअभिनीत'3ईडियट्स'फिल्मसेप्रसिद्धिहासिलकरनेवालाकेंद्रशासितप्रदेशलद्दाखकेलेहमेंस्थितस्कूललॉकडाउनकेदौरानअपनेछात्रोंकोस्थानीयकलाऔरसंस्कृतिकेसाथहीजड़ोंकीओरलौटनासिखारहाहै।स्कूलकेसभीछात्रोंकेपासलेहकेपहाड़ीइलाकोंमेंइंटरनेटकीपहुंचनहींहै।कोरोनावायरसकोफैलनेसेरोकनेकेलिएलागूकिएगएलॉकडाउनकीवजहसेद्रुकपद्माकारपोस्कूलबंदहै,लेकिनयहस्मार्टफोनकेजरिएकुछऑनलाइनकक्षाएंलेरहाहै।इसकीयोजनाहैकिजबस्कूलखुलेंगेऔरनियमितकक्षाएंलगेंगीतोयहपाठ्यक्रमफिरसेपढ़ायाजाएगा,क्योंकिबहुतसेछात्रोंकीपहुंचइंटरनेटतकनहींहै।स्कूलकीप्रधानाचार्यमिनगुरआगमोनेफोनपर"पीटीआई-भाषा"सेकहा,"हमठीकतरीकेसेऑनलाइनकक्षाओंकासंचालननहींकरसकतेहैंजैसेदेशकेकईहिस्सोंमेंकियाजारहाहै।हमारेकुछछात्रदुर्गमपहाड़ीइलाकोंमेंरहतेहैं,जहांइंटरनेटसुविधानहींहैं।कईबारतोकॉलकीसुविधाभीनहींहोतीहै।हमस्मार्टफोनकेजरिएजोपढ़ारहेहैंउसेनियमितकक्षाओंमेंफिरसेपढ़ाएंगे।इसलिएहमज्यादातवज्जोगैरशैक्षणिकगतिविधियोंपरदेरहेहैं।उन्होंनेकहा,"हमनेछात्रोंकोकामदियाहैकिकैसेवहलॉकडाउनमेंस्थानीयकलाऔरसंस्कृतिकोखोजसकतेहैंजोअपनीलोकप्रियताखोरहीहै।साथमेंसंस्कृति,खाना,स्थानीयभाषासीखनेसमेतअन्यगतिविधियोंपरनिबंधलिखनेकोदियागयाहै।"प्रधानाचार्यनेबतायाकिछात्रोंकोऐसेनवाचारीविचारदेनेकोभीकहागयाहैकिजिससेरोजमर्राकीजिंदगीआसानहोऔरजरुरतमंदोंमेंमास्कबांटनेकोभीकहाहै।उन्नीससालपुरानास्कूलआमिरखानअभिनीत'3ईडियट्समेंदिखाथा।इसकेबादइसेख्यातिमिली।