संसू.,पीरीबाजार(लखीसराय)। लखीसरायएवंसीमावर्तीमुंगेरजिलेकेटालक्षेत्रमेंजलजमावसेयहांकीखेतीहरसालप्रभावितहोतीहै।इसकाखामियाजाकिसानोंकोभुगतनापड़ताहै।देशमेंकमहोतेभूगर्भजलस्तरकोनियंत्रितकरनेएवंसिंचितक्षेत्रकारकबाबढ़ानेकेलिएकेंद्रएवंराज्यसरकारनेकईमहत्वाकांक्षीयोजनाएंचलाईहै।

दोनोंजिलेकेटालक्षेत्रकेकिसानोंकोसिंचाईव्यवस्थाउपलब्धकरानेकेलिए1982मेंतकरीबन70करोड़रुपयेकीलागतसेडकरानालागंगापंपपरियोजनाशुरूकीगईथी।योजनासमयांतरालकेबादइसकीलागत700करोड़रुपयेमेंतब्दीलहोगई।इतनीबड़ीराशिखर्चकरनेकेबावजूदनयोजनासफलहुईऔरनसिंचितक्षेत्रकारकबाहीबढ़ा।वरदानकेबदलेयहयोजनाकिसानोंकेलिएअभिशापसाबितहुई।इसकाकारणहैटालक्षेत्रमेंलंबेसमयतकजलजमावकाहोना।

इसपरियोजनाकेतहतबनेस्लुइसगेटसेससमयपानीनहींनिकालेजानेकेकारणटालक्षेत्रमेंलंबेसमयतकजलजमावरहताहै।दरसल,गंगामेंबाढ़केसमयजून-जुलाईमेंसिंचाईविभागकीओरसेस्लुइसगेटकोखोलदियाजाताहै,ताकिपानीटालक्षेत्रमेंफैलसकेऔरटालकीजमीनमेंनमीकेसाथहीरबीफसलकेउत्पादनमेंवृद्धिहोसके।लेकिनपानीकीनिकासीससमयनहींकिएजानेसेरबीफसलकीबोआईससमयनहींहोपाईहै।इसकाअसरपैदावारपरभीपड़रहाहै।ऐसेमेंकृषिघाटेकासौदासाबितहोरहीहै।

क्याथीडकरानालापंपपरियोजना

यहयोजनासिंचितक्षेत्रकारकबाबढ़ानेकेउद्देश्यसेबनाईगईथी।इसकेतहतगंगानदीसेपानीकोपंपकेद्वाराकेनालएवंनहरोंकेमाध्यमसेपूरेक्षेत्रकोसिंचाईसुविधामुहैयाकरानाथा।इसयोजनासेलगभग1,200एकड़सेभीअधिकभूमिकोसिंचितकरनेकालक्ष्यथा।इससेकिसानोंकोखरीफएवंरबीदोनोंफसलकालाभमिलनेकीउम्मीदथीलेकिनयहदिवास्वप्नसाबितहुआ।

सिंचाईकेलिएबनीयेपरियोजनाबदहालहोकररहगईहै।योजनाकेतहतबनीकईकिलोमीटरलंबीनहरऔरकेनालधीरे-धीरध्वस्तहोताचलागया।सिंचाईकेलिएखेतोंमेंजगह-जगहपरलगेलोहापाइपकोलोगउखाड़करलेगए।केनालमेंबिछानेकेलिएरखीकितनीईंटेंटूटगएतोकितनेलोगोंनेनिजीकार्यमेंलाया।इसयोजनाकेअसफलहोनेकेपीछेकाकारणगलतस्थलकाचयनहोनाबतायाजारहाहै।गंगाकीधारापरियोजनास्थलसेकईकिलोमीटरदूरचलीगई।इसकाविकल्पनहींढूंढाजासका।

क्याकहतेहैंकिसान

स्थानीयकिसानशिवशंकरनिराला,लालचंदसिंह,राजेशकुमार,मुकेशकुमार,निरंजनकुमारआदिनेकहाकियहांकेकिसानोंकोसिंचाईकीव्यवस्थातोनहींमिलीलेकिनजलजमावकीसमस्यासेलगातारजूझनापड़रहाहै।खरीफकेसाथ-साथरबीफसलभीप्रभावितहोरहीहै।टालक्षेत्रसेससमयपानीकीनिकासीहोनीचाहिए।

By Day