जागरणसंवाददाता,ओबरा(सोनभद्र):स्वच्छभारतअभियानकेबीचग्रामीणविद्यालयोंमेंसाफ-सफाईस्कूलीबच्चोंकेऊपरआगईहै।सोमवारकोमाडलप्राथमिकविद्यालयगायघाटमेंकक्षाचारकेछात्रझाड़ूलगातेदिखे।ग्रामपंचायतोंमेंसफाईकर्मियोंकीबेमानीसाबितहोरहीनियुक्तिकासीधाअसरस्कूलीबच्चोंपरपड़रहाहै।बड़ेअरमानकेसाथअभिभावकबच्चोंकोस्कूलमेंशिक्षाकेलिएभेजरहेहैंवहींशिक्षकउनसेसफाईकरवारहेहैं।बच्चोंनेबतायाकियहांअक्सरउनसेहीसफाईकरवायाजाताहै।

विद्यालयमेंशिक्षकआएदिनसमयसेनहींआतेहैं।बच्चेस्वयंस्कूलखोलनेकेसाथसाफसफाईकरतेहैं।यहींनहींबच्चेस्वयंव्यायामकररहेहैं।यहकेवलनामकामाडलविद्यालयरहगयाहै।यहांकंप्यूटरकक्षमेंकंप्यूटरहीनहींलगाहै।पिछलेवर्षनोडलअधिकारीकेआनेपरहीकेवलएकदिनकेलिएकंप्यूटरलगायागयाथा।स्वच्छपेयजलकेलिएलगायागयाआरओखराबपड़ाहै।ऐसेबच्चेजिनकाविद्यालयमेंनामअंकितनहींहैविद्यालयजानेपरउन्हेंशिक्षकबाहरनिकालदेरहेहैं।यहांतककिउन्हेंआंगनबाड़ीकेंद्रमेंभीनहींबैठायाजाताहै।विद्यालयकेप्रधानाचार्यअनिलचौधरीनेबतायाकिसफाईकर्मियोंकेनहींआनेकेकारणबच्चोंसेसफाईकरवाईजारहीहै।उधरअभिभावकोंमेंइसबातकोलेकरनाराजगीपैदाहोरहीहै।सफाईकर्मियोंकीगैरहाजिरीकेकारणलगभगज्यादातरपंचायतोंमेंयहीहालतहै।रेणुकापारकेज्यादातरविद्यालयोंकीस्थितिनारकीयहोतीजारहीहै।ज्यादातरविद्यालयोंकेशौचालयोंकीसफाईनहीहोनेकेकारणबच्चेखुलेमेंशौचकरनेकोमजबूरहैं।

By Dawson