[योगीआदित्यनाथ]।पावसबनकरढलनाहोगा।कदममिलाकरचलनाहोगा।पूर्वप्रधानमंत्रीभारतरत्नस्मृतिशेषअटलबिहारीवाजपेयीजीकीकलमसेनि:सृतयेपंक्तियांमुझेसततध्येयप्राप्तिहेतुसाधनाकरनेकीशक्तिप्रदानकरतीरहीहैं।उत्तरप्रदेशकीसेवाकरतेचारवर्षकैसेबीते,इसकाक्षणभरभीभाननहोसकाऔरअबयहविश्वासऔरदृढ़होचलाहैकिसाफनीयतऔरनेकइरादेसेकिएगएसत्प्रयाससुफलितअवश्यहोतेहैं।कोविड-19कीविभीषिकासेसंघर्षकाएकवर्षबीतचुकाहै।मुझेयादआताहैजनताकफ्यरूकावहदिनजबकोरोनाकेगहरातेसंकटकेबीचराष्ट्रपतिऔरउपराष्ट्रपतिमहोदयनेफोनपरबातचीतकरमुझसेप्रदेशकीतैयारीकेसंबंधमेंजानकारीलीथी।उन्हेंचिंताथीकिकमजोरहेल्थइंफ्रास्ट्रक्चर,सघनजनघनत्वऔरबड़ेक्षेत्रीयविस्तारवालाउत्तरप्रदेशइसमहामारीकासामनाकैसेकरेगा?

मैंनेउन्हेंभरोसादिलायाकिउत्तरप्रदेशइसआपदामेंअपनासर्वश्रेष्ठप्रदर्शनकरेगाऔरअंतत:हुआभीयही।एकतरफहमनेमंत्रिपरिषदकीएकटीमबनाई,जोपॉलिसीतयकियाकरतीथी,तोदूसरीतरफअधिकारियोंकीएकटीम-11गठितकी।हरदिनछोटी-छोटीगतिविधियोंकीबारीकीसेसमीक्षाहोतीऔरत्वरितकार्रवाईसुनिश्चितकीजाती।दूसरेप्रदेशोंमेंरहरहेउत्तरप्रदेशवासियोंकीकोईसमस्याहोअथवाप्रदेशमेंनिवासरतलोगोंकीजरूरतें,सबपरसीधीनजररखीगई।मुझेआजयहलिखतेहुएआत्मिकसंतोषहैकिइसवैश्विकलड़ाईमेंपूराउत्तरप्रदेशएकजुटरहा।हमनेप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीजीकेटेस्टिंगऔरट्रेसिंगकेमंत्रकोआत्मसातकियाऔरसमवेतप्रयाससेसफलताप्राप्तकी।परिणामत:आजप्रतिष्ठितवैश्विकसंस्थाएंभीउत्तरप्रदेशकेकोरोनाप्रबंधनकीसराहनाकररहीहैं।

विकासकीराहपरआगेबढ़ताउत्तरप्रदेश

विकासकीराहपरआगेबढ़ताहुआयहवहीउत्तरप्रदेशहै,जहांमहजचारसालमें40लाखपरिवारोंकोआवासमिला।एककरोड़38लाखपरिवारोंकोबिजलीकनेक्शनमिला,हरगांवकीकनेक्टिविटीकोबेहतरबनायागयाऔरगांव-गांवतकआप्टिकलफाइबरकेबलबिछानेकाकार्ययुद्धस्तरपरचलरहाहै।अंतरराज्यीयसंपर्ककोभीसुदृढ़कियागयाहै।पांचएक्सप्रेस-वेविकासकोरफ्तारदेनेकेलिएतैयारहोरहेहैंतोदेशकोरक्षाउत्पादनकेक्षेत्रमेंआत्मनिर्भरबनानेकेलिएडिफेंसकॉरिडोरकानिर्माणहोरहाहै।हमेंयादरखनाहोगाकिवर्ष2015-16मेंप्रदेशमेंप्रतिव्यक्तिआयमात्र47,116रुपयेथी।आज94,495रुपयेहै।यहहैपरिवर्तन।

निवेशकोंकीपहलीपसंदउत्तरप्रदेश

बदलतेवातावरणकापरिणामहैकिआजनिवेशकोंकीपहलीपसंदउत्तरप्रदेशहै।चारसालकेभीतरईजऑफडूइंगबिजनेसकीराष्ट्रीयरैंकिंगमें12पायदानऊपरउठकरनंबरदोपरआनाकोईसरलकार्यनहींथा,परहमनेयहकरदिखाया।हमारीसरकारईजऑफलि¨वगपरभीध्यानकेंद्रितकररहीहै।यशस्वीप्रधानमंत्रीजीनेआत्मनिर्भरभारतकासपनादेखाहै।वहदेशकी5टिलियनडॉलरवालीअर्थव्यवस्थाबनानेकामहानलक्ष्यलेकरचलरहेहैं।उत्तरप्रदेशइसलक्ष्यकासंधानकरनेमेंअग्रणीभूमिकानिभानेकेलिएअपनीप्रतिबद्धताव्यक्तकरताहै।

किसानोंकीप्रगतिकोनवीनआयामदेनेवालाप्रयास

चारवर्षपूर्वअन्नदाताकिसानऋणकीमाफीसेवर्तमानसरकारकीलोककल्याणकीयात्राप्रारंभहुईथी।राज्यसरकारनेअपनीपहलीकैबिनेटबैठकतबतकनहींकी,जबतकलघुएवंसीमांतकिसानोंकीऋणमाफीकीकार्ययोजनातैयारनहींकरली।आजप्रदेशमेंकिसानउन्नततकनीकसेजुड़करकृषिविविधीकरणकीओरअग्रसरहोरहेहैं।हालमेंकेंद्रसरकारनेकृषिसुधारोंकीऐतिहासिकपहलकीहै।यहकिसानोंकीप्रगतिकोनवीनआयामदेनेवालाप्रयासहै।किसानोंकोन्यूनतमसमर्थनमूल्यसेअधिकमूल्यजहांमिले,वहांबेचनेकेलिएस्वतंत्रताहासिलहै।मंडियोंकोराष्ट्रीयस्तरपरतकनीकीप्लेटफॉर्मई-नामसेजोड़नेकीयोजनाप्रधानमंत्रीजीकेनेतृत्वमेंलागूकीजारहीहै।

किसानोंकीउम्मीदऔरखुशहालीहमारीसर्वोच्चप्राथमिकताओंमेंशामिल

प्रदेशसरकारनेदशकोंसेलंबितपड़ींसिंचाईपरियोजनाओंकोपूराकरनेकाकार्यकियाहै।प्रदेशमेंअबतक1.27लाखकरोड़रुपयेकेगन्नामूल्यकाभुगतानकिसानोंकोकियाजाचुकाहै।हमारीसरकारनेबंदचीनीमिलोंकोचलानेकाकार्यकियाहै।कोरोनाकालखंडकेदौरान119चीनीमिलेंकार्यकरतीरहीं।प्रधानमंत्रीकिसानसम्माननिधियोजनामेंउत्तरप्रदेशकोसवरेत्तमप्रदर्शनकेलिएसम्मानितकियागया।प्रदेशकेदोकरोड़42लाखकिसानइसयोजनासेलाभान्वितहुएहैं।कृषकदुर्घटनाबीमायोजनाकादायराबढ़ायागयाहैऔरअबबटाईदारऔरकिसानकेपरिजनभीइससेलाभान्वितहोसकेंगे।किसानोंकीउम्मीदऔरखुशहालीहमारीसर्वोच्चप्राथमिकताओंमेंशामिलहैऔरहमइसपरपूरीतरहखराउतरनेकेलिएसततप्रयत्नशीलहैं।

आस्थाऔरअर्थव्यवस्था,दोनोंकेप्रतिहमारासमदर्शीभावहै

बीतेचारवर्षोमेंप्रदेशमेंसांस्कृतिकराष्ट्रवादकीजोज्योतिप्रज्ज्वलितहुईहै,उसनेहरसनातनआस्थावानकेहृदयकोआलोकितकियाहै।श्रीरामजन्मभूमिपरसकलआस्थाकेकेंद्रप्रभुश्रीरामकेभव्य-दिव्यमंदिरकेनिर्माणकेशिलान्यासकीसदियोंपुरानीबहुप्रतीक्षितसाधना2020मेंपूरीहुई।अयोध्यादीपोत्सव,काशीकीदेवदीपावलीऔरब्रजरंगोत्सवकीसर्वत्रसराहनाहुई।आस्थाऔरअर्थव्यवस्था,दोनोंकेप्रतिहमारासमदर्शीभावहै।हमारीनीतियोंमेंदोनोंभावसमानांतरगतिकरतेहैं।

दूसरेनंबरकीअर्थव्यवस्थावालाराज्यबनकरउभरा

चारसालपहलेजिसप्रदेशकोबीमारूकहाजाताथा,जोअर्थव्यवस्थाकेपैमानेपरपांचवेंपायदानपरथा,जहांयुवापलायनकोमजबूरथा,आजउसकीप्रगतिऔरउसकीनीतियांअन्यराज्योंकेलिएनजीरबनरहीहैं।2015-16में10.90लाखकरोड़कीजीडीपीवालाराज्यसमन्वितप्रयासोंसेआज21.73लाखकरोड़कीजीडीपीकेसाथदेशमेंदूसरेनंबरकीअर्थव्यवस्थावालाराज्यबनकरउभराहै।राज्यवहीहै,संसाधनवहीहैं,कामकरनेवालेवहीहैं,बदलीहैतोबसकार्यसंस्कृति।पारदर्शीकार्यसंस्कृतिइसनएउत्तरप्रदेशकीपहचानहै।

किसान,नौजवान,महिलाऔरगरीबवर्तमानसरकारकीनीतियोंकेकेंद्रमेंहैं

प्रधानमंत्रीजीनेसबकासाथ-सबकाविकास-सबकाविश्वासकापाथेयप्रदानकियाहै।मुझेप्रसन्नताहैकिहमइसीपाथेयकेअनुरूपअपनीनीतियोंकोक्रियान्वितकरनेमेंसफलरहेहैं।किसान,नौजवान,महिलाऔरगरीबवर्तमानसरकारकीनीतियोंकेकेंद्रमेंहैंऔरयहीवजहहैकिजनतासरकारकेसाथहै।लोककल्याणकेसंकल्पकीशक्तिकेबलपरप्रदेशआजसिद्धिकेपथपरतेजीसेआगेबढ़रहाहै।मांभारतीहमारापथप्रशस्तकरें..

(लेखकउत्तरप्रदेशकेमुख्यमंत्रीहैं)

By Davison