जागरणसंवाददाता,औरंगाबाद:जिलेमेंशिक्षाविभागकाहालबेहालहै।विभागआक्सीजनकेभरोसेचलरहाहै।विभागमेंतैनातअधिकारीनियमसेनहींकामकरतेहैं।स्थितिअराजकतावालीहै।नखातानबही,अधिकारीजोकहेंवहीसहीवालाकहावतचरितार्थहोरहाहै।अधिकारीनियमोंकोताकपररखकरविभागकासंचालनकररहेहैं।विद्यालयठीकसेसंचालितहोरहाहैयानहींइसकेलिएअधिकारियोंकेद्वारासमय-समयपरजांचकियाजाताहै।जांचमेंअधिकतरविद्यालयमेंगड़बड़ीमिलतीहै।कहींशिक्षकगायबहोतेहैंतोकहींरोकड़पंजीसहीतरीकेसेसंचालननहींहोरहाहै।इसस्थितिमेंअधिकारियोंकेद्वाराप्रधानाध्यापकसेस्पष्टीकरणपूछाजाताहै।गड़बड़ीकेबारेमेंपूछाजाताहै।संतोषजनकस्पष्टीकरणनहींमिलनेकेबादभीअधिकारियोंकेद्वाराकोईकार्रवाईनहींकीजातीहै।मामलाकोमैनेजकरलियाजाताहै।ऐसेकईमामलेमेंदेखनेकोमिलाहै।11दिसंबरकोजिलाशिक्षापदाधिकारीसंग्रामसिंहनेमध्यविद्यालयबारुणकानिरीक्षणकिया।सुबह10.15बजेडीइओविद्यालयपहुंचेथे।विद्यालयबंदथा।करीब40छात्र-छात्राएंविद्यालयमेंखेलरहेथे।डीईओद्वाराछात्रोंसेपूछेजानेपरबतायागयाथाकियहांविद्यालयखुलनेकाकोईतयसमयनहींहैं।शिक्षकअपनीमर्जीसेविद्यालयआतेहैं।विद्यालयमेंअधिकारीकेआनेकीसूचनासुननाइटड्रेसमेंशिक्षकअभिषेककुमारआनन-फाननमेंपहुंचेथे।डीईओनेतत्कालकार्रवाईकरतेहुएसभीशिक्षकोंकावेतनरोकदियाथा।प्रधानाध्यापकनरेंद्ररामसेस्पष्टीकरणकीमांगकीगईथी।एचएमद्वारातीनदिनपहलेहीस्पष्टीकरणकाजवाबदियागयाबावजूदडीइओकेद्वाराकोईकार्रवाईनहींकीगईहै।विद्यालयबंदकरशिक्षकोंकागायबहोनाबड़ीलापरवाहीकाउदाहरणहै।अधिकारियोंद्वाराविद्यालयकानिरीक्षणस्थितिकोसुधारनेकेलिएकियाजाताहैपरंतुयहांऐसाहोतानहींहै।अधिकतरविद्यालयमेंअराजकताव्याप्तहै।जांचमेंसामनेआताहैपरंतुइसकेबावजूदभीअधिकारीकार्रवाईनहींकररहेहै।इससेस्पष्टहोताहैकिशिक्षाविभागनियमसेनहींबल्किमैनेजसेचलरहाहै।अधिकांशविद्यालयनतोसमयसेखुलतेहैंनसमयसेबंदहोतेहैं।विद्यालयोंकीइसस्थितिमेंभीयहजिलाप्रदेशमेंबेहतरशिक्षाकेमामलेमेंतीसरेस्थानपरहै।डाककेमाध्यमसेस्पष्टीकरणकाजवाबमिलाहै।त्वरितकार्रवाईकीजारहीहै।विद्यालयमेंबच्चोंकोबेहतरशिक्षामिलेइसकेलिएहमसभीकार्यकररहेहैं।विद्यालयोंकानिरीक्षणनियमितकियाजाएगा।

-संग्रामसिंह,जिलाशिक्षापदाधिकारी,औरंगाबाद।

By Davies