गजरौला:एनसीईआरटीकीनकलीकिताबोंकीछपाईकामामलाभलेहीपहलीबारमेरठकीएसटीएफटीमकेछापेकेबादसामनेआयाहो,लेकिननकलीमालवघोटालोंकोलेकरगजरौलाऔद्योगिकक्षेत्रकानामपहलेसेबदनामहै।पिछलीसरकारोंमेंबहुचर्चितरहेएनआरएचएमकेघोटालोंकोलेकरभीसीबीआइयहांकईबारछापेमारीकीथी।

औद्योगिकक्षेत्रमेंशुक्रवारकीआधीरातहुईमेरठएसटीएफटीमकीछापेमारीनेपिछलेमामलोंकीभीयादताजाकरदी।इनमेंएकमामलाप्रदेशकेबहुचर्चितरहेएनएचआरएमकेबड़ेघोटालेकाभीहै।इसघोटालेकीजांचसीबीआइकेद्वाराकीगईथी।सीबीआइगाजियाबादकीटीमनेयहांऔद्योगिकक्षेत्रमेंकईबारछापेमारीकीथी।यहछापेमारीयहांटेलीफोनएक्सचेंजकेसमीपएककारखानेमेंकीगईथी।इसमेंआपरेशनरूमसेसंबंधितआइटमतैयारकरआपूर्तिकिएजानेकोलेकरछापेमारीहुई।यहमामलाउसदौरानखासाचर्चितरहाथा।इसकारखानेकेऑनरसम्भलक्षेत्रकेनिवासीथे।हालांकिअबयहकारखानाउसकार्रवाईकेबादबंदहोगयाहै।इससेपूर्वस्थानीयपुलिसकेद्वाराइसीइलाकेसेनामीकंपनियोंकेबोरोंमेंनकलीसीमेंटभरकरसप्लाईकरनेकाधंधापकड़ाथा।शनिवारकोमेरठएसटीएफकीकार्रवाईकीभनकक्षेत्रकेउद्यमियोंकोलगीतोइनपुरानेमामलोंकीभीयादताजाहोगई।हालांकिअधिकांशलोगइन्हेंभूलचुकेहैं।मेरठकेपरतापुरवदोरालाकीपुलिसनेकीपुस्तकोंकीगिनती

गजरौला:एसटीएफटीमकेछापेकेबादकारखानेमेंमिलेकिताबोंकेभंडारणकीनिगरानीमेरठकेहीथानापरतापुरऔरदोरालाकीपुलिसद्वाराकीगई।परतापुरकेइंचार्जओपीसिंहचारपाईपरबैठकरगिनीकिताबोंकाजोड़कररहेथेजबकिएसआइराजकुमार,करतारसिंहइत्यादिस्टाफपुस्तकोंकेनामवउनकीसंख्यागिनकरउन्हेंनोटकरारहेथे।इसेकरनेमेंहीघंटोंलगगए।

By Dixon