नयीदिल्ली,23जुलाई(भाषा)मानवसंसाधनविकास(एचआरडी)मंत्रालयनेएकऑडिटमेंदेशभरकेकेंद्रीयविद्यालयोंकी20सेअधिकइमारतोंकेआंशिकयापूरीतरहसेअसुरक्षितहोनेकीबातसामनेआनेकेबादनिर्देशजारीकिएहैंकिउनमेंकक्षाएंनचलायीजाएं।एचआरडीमंत्रालयकेअधिकारियोंकेमुताबिकदशकोंपुरानीइनइमारतोंमेंसबसेअधिकमहाराष्ट्र(आठ)मेंऔरफिरअसम(तीन)मेंहैं।महाराष्ट्रकेइनआठभवनोंमेंसेतीनकानिर्माण1960मेंहुआथा।उत्तरप्रदेशऔरगुजरातमेंऐसेदो-दोभवनहैंजबकित्रिपुरा,मेघालय,केरल,पश्चिमबंगाल,मध्यप्रदेशऔरसिक्किमप्रत्येकमेंएकऐसीइमारतहै।मंत्रालयकेएकवरिष्ठअधिकारीनेपीटीआई-भाषाकोबताया,“केंद्रीयविद्यालयसंगठननेभारतीयप्रौद्योगिकसंस्थान,राष्ट्रीयप्रौद्योगिकीसंस्थानऔरसरकारीइंजीनियरिंगकॉलेजोंकेजरिए10सालसेज्यादापुरानेस्कूलभवनोंकेसंबंधमेंतकनीकीऑडिटकरनेकेकदमकीशुरुआतकीहै।’’ऑडिटरिपोर्टकेमुताबिक21केंद्रीयविद्यालयभवनअसुरक्षितपाएगएहैं।इनमेंसे18आंशिकरूपसेअसुरक्षितहैंजबकितीनकोपूरीतरहसेअसुरक्षितबतायागयाहै।पूरीतरहसेअसुरक्षितपाईगईंइमारतेंगुजरातऔरमहाराष्ट्रमेंहैं।अधिकारीनेकहा,“चारकेंद्रीयविद्यालयोंमेंअसुरक्षितस्कूलइमारतोंकोबदलेजानेकेकामकोस्वीकृतिदीगईहैजिनमेंगुजरातकीएकऔरमहाराष्ट्रकीतीनइमारतेंशामिलहैं।”हालांकिउन्होंनेबतायाकिअसुरक्षितभवनोंमेंस्कूलनहींचलानेकेनिर्देशजारीकरदिएगएहैं।विद्यालयसंगठनप्रायोजकोंकीतरफसेउपलब्धकराएगएअस्थायीपरिसरोंमें260सेअधिककेंद्रीयविद्यालयचलारहाहै।कुलमिलाकरसंगठनपूरेदेशमें1,206केंद्रीयविद्यालयचलाताहै।