अश्विनीशर्मा/तरलोकनरूला,मोगा

महामारीकेचलतेऑनलाइनशिक्षाकेबारेमेंअभिभावकजरूरतसेअधिकमोबाइलकेउपयोगकोलेकरबच्चोंकेस्वास्थ्यकेप्रतिचितितहैं।वहींअभिभावकोंकामाननाहैकिइसप्रक्रियाकेमाध्यमसेअच्छीशिक्षाकेस्तरमेंगिरावटआरहीहै।बच्चोंकोजोशिक्षामिलनीचाहिए,वोनहींमिलपारहीहै।बतादेंकिकोविड-19केकारणस्कूलोंवकॉलेजोंकेछात्रघरपरहीअपनेअभिभावकोंकेसहयोगकेसाथऑनलाइनशिक्षाग्रहणकररहेहैं।ऐसेमेंजहांअभिभावकोंकोअपनेदिनभरकेकार्योकोनिपटानापड़रहाहै,वहींसाथ-साथबच्चोंकीशिक्षामेंसहयोगकरनापड़रहाहै।इसदौरानअभिभावकोंकेलिएअपनेबच्चोंकीसेहतकाध्यानरखनेकेसाथ-साथउनकामनोबलबढ़ानेकाप्रयासभीअनिवार्यबनाहुआहै।बच्चोंकेसाथ-साथअभिभावकोंकीभीऑनलाइनपरीक्षाकीघड़ीचलरहीहै।ऐसानिरंतरपांचमहीनोंसेचलरहाहै।इसकोरोनाकालमेंऐसाकरनाअबअभिभावकोंकेलिएभीदिनचर्याकाहिस्साबनगयाहै।इसमेंज्यादाजिम्मेदारीमाताओंकीहै।उन्हेंबच्चोंकेनिरंतरऑनलाइनमोबाइलपरकार्यकरनेसेउनकेस्वास्थ्यकाभीध्यानरखनापड़रहाहै।एकसमयथाजबसुबहबच्चोंकोस्कूलभेजनावउनकालंचबॉक्सतैयारकरनाकार्यजरूरीथा।मगर,अबवोचीजेंनहींरही,लेकिनयेयादेंताजाहैं।अभिभावकोंकेअनुसारकोरोनामहामारीकेकारणबच्चोंकोऑनलाइनशिक्षादिलानाअनिवार्यहै।मगर,घरोमेंस्कूलोंजैसामाहौलनहींबनपाता।साथहीजोअतिरिक्तक्रिया-कलापबच्चेस्कूलमेंसीखतेहैं,वहघरपरनहींसीखसकते।

जरूरतसेअधिकमोबाइलकेइस्तेमालसेबढ़ीचिता

गृहिणीसीमाअहूजाकाकहनाहैकिवर्चुअलपढ़ाईकरनाऔरकरवानाकोईआसानकामनहींहै।उनकीबेटीपरीअहूजादसवींकक्षामेंऔरबेटासार्थकअहूजापहलीकक्षामेंडीएनमॉडलस्कूलमेंपढ़ताहै।स्कूलकेलिएजल्दीउठनाऔरटाइमपरखानाखानायहआदतहमबच्चोंकोस्कूलकेअलावाघरमेंनहींसिखासकते।उन्हेंबच्चोंकेलिएलंचबॉक्सतैयारकरनाआजभीयादआताहै।कोरोनाकीवजहसेमजबूरीजरूरबनगईहैऑनलाइनक्लासमेंपढ़ाना,परंतुयहअभिभावकोंवअध्यापकोंकेलिएआसाननहींहै।बच्चेमोबाइलसेपढ़ते-पढ़तेज्यादाथकावटमहसूसकररहेहैं,जिससेउनकीसेहतपरअसरदेखनेकोमिलरहाहैऔरजरूरतसेज्यादामोबाइलकाइस्तेमालहोरहाहै।ऑनलाइनमेंकुछचीजेंसमझआतीहैऔरकुछनहीं।बड़ीबेटीतोअपनेआपमोबाइलसेहोमवर्ककरलेतीहै,लेकिनबेटेकोकामउन्हेंकरवानापड़ताहै।गृहिणीहोनेकेकारणचार-चारघंटेहोमवर्कनहींकरवायाजाता।मगर,बच्चोंकामनोबलबनाएरखनेकेलिएउन्हेंऐसाकरनापड़ताहै।

स्कूलजैसीपढ़ाईघरमेंनहीं

गृहिणीश्वेताजैनकाकहनाहैकिउनकाबेटाअरहमजैनडीएनमॉडलस्कूलमें12वींनॉनमेडिकलकाछात्रहैऔरसभीकक्षाओंकोऑनलाइनहीकररहाहै।स्कूलबंदहोनेकेबादसेपढ़ाईपरबहुतअधिकप्रभावपड़ाहै।स्कूलजानेमेंबच्चोंमेंअनुशासनबनारहताहै।सुबहटाइमपरउठना,टाइमपरतैयारहोकरस्कूलपहुंचनाऔरसारीदिनचर्याटाइमसेबच्चेकरतेथे।मगर,लॉकडाउनकीवजहसेपूरेदिनकासिस्टमबुरीतरहसेप्रभावितहुआहै।बच्चेजोपढ़ाईअध्यापककेपासरहकरकरसकतेहैं,समझसकतेहैंवोऑनलाइननहींहोसकती।बेटाभीस्कूल,सहपाठियोंऔरअध्यापकोकोबहुतमिसकररहाहै।उम्मीदकरतीहूंकिजल्दीहीयेबीमारीखत्महोगीऔरसबकुछपहलेकीतरहहीचलेगा।

आधुनिकतानेबढ़ाईअभिभावकोंकीजिम्मेदारी

ट्रांसपोर्टररजनीशकुमारराजाकाकहनाहैकिउनकाबेटाप्रणवसिगलाकक्षानौवींवशौनकसिगलाकक्षाछठीसेक्रेडहार्टस्कूलकाछात्रहै।ऑनलाइनशिक्षाप्रणालीसेइसवक्तबच्चोंकीपढ़ाईकीसारीजिम्मेदारीमाता-पितापरआगईहै।ऑनलाइनशिक्षाप्रणालीमेंस्कूलोंद्वाराबच्चोंकोयातोडेढ़सेदोघंटेकीक्लासदीजातीहैयापहलेसेरिकॉर्डवीडियोभेजकेउनकोपढ़नेकेलिएकहाजाताहै।इसतरहकेसिस्टममेंसारीजिम्मेदारीअभिभावकोंकीबनजातीहैकिवहअपनेबच्चेकीनिगरानीकरेंकिवेपढ़रहेहैंयानहीं।उनकीपढ़नेमेंहरतरहकीसहायताकरनीपड़तीहै।अगरमाता-पितापढ़ेलिखेहैंयाबच्चापढ़ाईकेप्रतिबहुतहीसंवेदनशीलहैतोपढ़ाईहोसकतीहैअन्यथाइसतरहबच्चेपढ़नहींसकते।इससेशिक्षाकास्तरगिरनेकीभीसंभावनाहै।लॉकडाउनसेपहलेस्कूलोंमेंपढ़ाईकरवाईजातीथीऔरबच्चोंकोहोमवर्कदियाजाताथा,जबकिलॉकडाउनमेंतोपाठ्यक्रमकोपूराकरवानेकाहीकामचलरहाहै।बच्चोंकोपाठ्यक्रमरिवाइजकरनेकातोसमयहीनहींमिलरहाहै।

बच्चोंकाबढ़ानाहोगामनोबल

अकाउंटेंटनवीनग्रोवरकाकहनाहैकिकोविड-19केकारणबच्चोंकेसाथस्कूलोंकेलिएऑनलाइनशिक्षाकोअपनानाअनिवार्यबनगयाहै।बेटासंभवग्रोवर12वींमेंवबेटीसृजनाफ‌र्स्टक्लासमेंऑक्सफोर्डस्कूलमेंपढ़तेहैं।ऐसेमेंबच्चोंकीशिक्षाऑनलाइननिरंतरजारीहै।ऑनलाइनकक्षाओंकाबच्चोंकोबहुतलाभहोरहाहै।ऑनलाइनकक्षाओंकेकारणबच्चोंकापढ़ाईसेसंपर्कबनारहताहैऔरइसगंभीरहालतमेंबच्चोंकोज्ञानकीप्राप्तिकाहोनाबहुतअच्छीसुविधाहै।जबतकऐसीपरिस्थितियांचलतीरहेंगी,वहअपनेबच्चोंकोस्कूलभेजनेसेपरहेजहीरखेंगे।उनकाकहनाहैकिहमेंअपनेबच्चोंकामनोबलबढ़ानाचाहिए।साथहीउनकोघरमेंहीव्यायामकेलिएप्रेरितकरनाहै,ताकिउनकीसेहततंदुरुस्तरहे।बच्चोंकोभीचाहिएकिवहटाइमटेबलबनाकरइसहालतमेंहोमवर्ककरें।

-बैंकमेंरहतेहुएभीध्यानबच्चोंमेंहीरहताहै

बैंककर्मीतरनजीतकौरअरोड़ाकाकहनाहैकिउनकाबेटारणवीरअरोड़ानौवींकक्षासेक्रेडहार्टस्कूलकाछात्रहै।उनकीऑनलाइनकक्षाचलतीहै।वहबैंकआजातीहैतोघरपरबेटाऑनलाइनस्कूलकाकामकरलेताहै।जबसायंघरजातेहैं,तोउनकाकामचेककरलेतेहैं।उनकाकहनाहैकिऑनलाइनकक्षामेंबड़ीमुश्किलेंआरहीहैं,क्योंकिजॉबकेकारणबच्चोंकोज्यादासमयनहींदेपातेहैं।अबमाहौलहीऐसाहै,मुश्किलतोआरहीहै।मगरमैनेजकरनापड़रहाहै।जोकामबच्चोंकोसमझनहींआता,उसेघरजाकरसमझादेतेहैं।बैंककीछुट्टीकेदिनबच्चोंकापूरासहयोगकरतीहैं।बैंकमेंकामकरतेसमयभीध्यानघरपरबच्चोंकीतरफहीरहताहै।अबतोयहीइच्छाहैकिजल्दमहामारीसेछुटकारामिलेऔरस्कूलखुलें।बच्चोंकेलिएस्कूलकीशिक्षाहीसहीदिशादेतीहै।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!

By Dean