जागरणसंवाददाता,बागेश्वर:जिलाधिकारीरंजनाराजगुरुनेकहाकिअध्ययनकेसाथ-साथबच्चोंकीखेलनाभीआवश्यकहै।कक्षामेंकमजोरबच्चोंकोहोशियारबच्चेकेसाथबैठानावप्रतिदिनबच्चोंकेबैठनेकाक्रमबदलनाजरूरीहैतथाबच्चोंकीअध्ययनमेंरूचिबढ़ानेकेलिएउनकेअभिभावकोंकेसाथभीसमय-समयपरबैठककरें।

जिलाधिकारीरंजनानेकठायतबाड़ामेंसंचालितकेंद्रीयविद्यालयकीप्रबंधकसमितिकेबैठकली।केंद्रीयविद्यालयकेप्राचार्यनेवर्तमानमेंसंचालितअस्थाईविद्यालयभवनसहितअनेकसमस्याओंकेबारेमेंजिलाधिकारीकोबताया।वर्तमानमेंविद्यालयमेंकक्षा6से12वींतककुल412विद्यार्थीअध्ययनरतहैं।शिक्षकोंके24स्वीकृतपदकेसापेक्ष13शिक्षककार्यरतहैं।शेषपदरिक्तचलरहेहैंजिनकेस्थानपरवैकल्पिकव्यवस्थासेअघ्ययनकार्यसंचालितहोरहाहै।विद्यालयमेंसुरक्षाकीदूष्टिसेसीसीटीवीस्थापितकरनेकीसंस्तुतिकीगई।विद्यालयमेंपेयजलव्यवस्थासुचारूनहोनेपरजिलाधिकारीनेजलसंस्थानकोस्कूलकेनामकनेक्शनहस्तांतरितकरपेयजलकीसुचारूव्यवस्थाकेनिर्देशदिए।जिलाधिकारीनेबच्चोंकेस्वास्थ्यपरीक्षणहेतुअपरमुख्यचिकित्साधिकारीकोस्वास्थ्यपरीक्षणतथाछूटेहुएबच्चोंकोमिजिल्सरूबैलाकाटीकाकरणकरनेकोकहा।

इसअवसरपरउपजिलाधिकारीकांडा¨रकूबिष्ट,मुख्यशिक्षाअधिकारीहरीशचंद्र¨सहरावत,मुख्यपशुचिकित्साधिकारीडॉ.उदयशंकर,प्रधानाचार्यराइंकाबागेश्वरप्रमोदतिवाडी,खेलअधिकारीविनोद¨सहवल्दिया,ईईनंदकिशोर,अभिभावकचंपाखेतवाल,प्रताप¨सहभाकुनी,प्राचार्यकृष्णगोपालआदिमौजूदथे।

By Dale