संवादसहयोगी,कालाकोट:केंद्रवराज्यसरकारग्रामीणइलाकोंमेंबेहतरशिक्षामुहैयाकरवानेकेलिएकईयोजनाएंचलारहीहैं,लेकिनउनयोजनाओंकालाभग्रामीणस्कूलोंमेंपढ़नेवालेलोगोंकोनहींमिलपारहाहै।आधुनिकजमानेमेंभीशिक्षाजोनमोगलाकेसरकारीस्कूलचंबलगलाकेविद्यार्थीपढ़ाईकरनेकेबजायअपनीप्यासबुझानेकेलिएइधर-उधरभटकतेहैं।स्कूलकेविद्यार्थियोंकोपानीकेलिएस्कूलसेएकडेढ़किलोमीटरदूरप्राकृतिकजलस्त्रोतोंसेपानीलानापड़ताहै।इससेविद्यार्थियोंकीकाफीहदतकशिक्षाप्रभावितहोरहीहै।इससेबच्चोंकेअभिभावकोंमेंशिक्षाऔरपीएचईविभागकेखिलाफरोषहै।उन्होंनेशिक्षाविभागसेइसस्कूलमेंपढ़नेवालेबच्चोंकेलिएस्वच्छपेयजलमुहैयाकरानेकीमांगकीहै।

स्थानीयगांववासीवसामाजिककार्यकर्तामोहनलाल,अंचल¨सह,जितेंद्र¨सहआदिनेकहाकिमिडिलस्कूलचंबलगालामेंडेढ़सौसेऊपरबच्चेशिक्षाग्रहणकररहेहैं।इसकेअलावास्कूलस्टाफभीहै,लेकिनस्कूलमेंपानीकीकोईव्यवस्थानहींहै।इसबारेमेंपीएचईअधिकारियोंकोभीअवगतकरवायाजाचुकाहै,लेकिनउनकेकानोंपरजूंतकनहींरेंगरहीहै।उन्होंनेपीएचईविभागसेपाइपलाइनबिछाकरस्कूलमेंस्वच्छपेयजलमुहैयाकरानेकीमांगकीहै।उन्होंनेचेतावनीदेतेहुएकहाकिअगरबच्चोंकोपीनेकेपानीस्कूलमेंनहींमिलातोवेउग्रआंदोलनकरनेकोविवशहोजाएंगे।आंदोलनसेआमजनताकोहोनेवालीपरेशानीकेलिएशिक्षाऔरपीएचईविभागजिम्मेदारहोगा।इतनाहीनहीं,बच्चोंकेलिएमिडडेमीलबनानेकेलिएपानीकाप्रबंधकरनापड़ताहै।यहीवजहहैकिबच्चोंकाअधिकसमयपानीढोनेमेंहीनिकलजाताहै।उन्होंनेस्कूलमेंपानीकाहैंडपंपलगानेकेसाथहीस्पेशलपाइपलाइनबिछाकरपानीमुहैयाकरानेकीमांगकी।

ग्रामीणोंनेस्कूलमेंपानीकीसमस्याकोलेकरमुझेअवगतकरवायाहैऔरग्रामीणोंकीमांगपरजल्दगंभीरतादिखाकरस्कूलमेंहैंडपंपयाफिरअन्यकिसीयोजनाकेतहतपानीमुहैयाकरायाजाएगा।

सुरजीतसिंह,एईई,पीएचईविभाग

By Dawson