चेन्नई,आठअगस्त(भाषा)इससालतमिलनाडुमेंहुएभारीजलसंकटकोदेखतेहुएमुख्यमंत्रीके.पलानीस्वामीनेगुरुवारकोलोगोंसेबारिशकापानीबचानेकीअपीलकी।उन्होंनेवर्ष2001मेंदिवंगतजेजयललिताद्वाराबड़ेपैमानेपरशुरूवर्षाजलसंचय(आरडब्ल्यूएच)योजनाकोभीयादकिया।पलानीस्वामीनेकहाकिबारिशकापानीसंचयकरनेकीयोजनादिवंगतमुख्यमंत्रीजयललितानेशुरूकीथी।उन्होंनेलोगोंकीजरूरतोंकोपूराकरनेकेलिएप्राकृतिकसंसाधनोंकोमहत्वदियाथा।वीडियोसंदेशमेंउन्होंनेध्यानदिलायाकिसंत-कवितिरुवलुवरनेअपनीरचना‘तिरुक्कुरल’मेंजलकेमहत्वपरजोरदियाहै।कुल1330दोहोंकेसंग्रहमेंउन्होंनेजीवनकेविभिन्नआयामोंकोरेखांकितकियाहैऔरकहाहैकिजलकेबिनादुनियानहींचलसकती।पलानीस्वामीनेकहा,‘‘बारिशकापानीबचानेकेलिएकानूनलानेकाश्रेयअम्मा(जेजयललिता)कोजाताहै।मैंसभीलोगोंसेआग्रहकरताहूंकिवेस्वेच्छासेअम्माकीइसयोजनापरअमलकरेंऔरअपनीबेहतरीएवंतमिलनाडुकीदीर्घकालिकसंपन्नतामेंसहयोगकरें।

By Davis