बलरामपुर:शौर्यप्राकृतिकचिकित्साएवंयोगप्रशिक्षणसंस्थानकेतत्वावधानमेंरविवारकोराजकीयआश्रमपद्धतिबालिकाविद्यालयपीलीभीतमेंप्राकृतिकचिकित्सादिवसमनायागया।कार्यक्रममेंछात्राओंवग्रामीणोंकोप्राकृतिकचिकित्सावयोगकेमाध्यमसेअसाध्यबीमारियोंकोजड़सेमिटानेकीजानकारीदीगई।मुख्यअतिथिसमाजकल्याणअधिकारीबैजनाथ¨सहनेकहाकिस्वस्थरहनेकेलिएसभीकोनियमितयोगकरनाचाहिए।प्रकृतिनेमनुष्यकोमिट्टी,जल,वायुववनस्पतिजैसेअनुपमउपहारदिएहैं।विशिष्टअतिथिकेंद्रीयविद्यालयकेप्रधानाचार्यनीरजअस्थानानेकहाकिव्यक्तिकोजलथिरेपीकरनाचाहिए।इससेमेटावाल्जिमबढ़ताहै।मिट्टीस्नानसेशरीरकेविकारखत्महोतेहैं।संस्थाकेचेयरमैनडॉ.रामनारायण¨सहतेराआहारहीतेरीऔषधिहैपरप्रकाशडाला।योगप्रशिक्षकवीरेंद्रविक्रम¨सहनेयोगवप्राकृतिकचिकित्साकेमहत्वपरचर्चाकी।विद्यालयकीप्रधानाचार्याडॉ.आशामिश्रा,रवींद्रगुप्त,डॉ.पम्मीपांडेयगुंजन,नवाबअलीववरुणकुमारमौजूदरहे।

By Dobson