संवादसहयोगी,पौड़ी:जनपदकेतहसीलचौबट्टाखालस्थितपंवारगांवमेंएकबुजुर्गकेघरकाभारीबारिशसेपुश्ताढहगयाहै।जिससेउसकाघरखतरेकीजदमेंआगयाहै।इसवजहसेबुजुर्गकोपड़ोसकेगांवमेंकिराएकेमकानमेंमकानमेंरहनेकोमजबूरहोनापड़रहाहै।पीड़ितबुजुर्गनेजिलाधिकारीसेमददकीगुहारलगाईहै।उनकाकहनाहैकिमेराघरराष्ट्रीयराजमार्गकेसमीपहै।पहलेराजमार्गकेचौड़ीकरणमेंभवनकापुस्ताढहा,अबभारीबारिशसेभवनबुरीतरहखतरेंकीजदमेंआगयाहै।

तहसीलचौबट्टाखालकेग्रामपाटीसैणस्थितपंवारगांवनिवासीबुजुर्गप्रेमचंद(80)काघरपुस्ताढहनेसेबुरीतरहखतरेकीजदमेंआगयाहै।उन्होंनेबतायाकिराष्ट्रीयराजमार्ग534केचौड़ीकरणकेचलते2010-11मेंमेरेभवनकेनीचेकापुस्ताढहगयाथा।लोनिविएनएचखंडसेमुआवजेकीमांगकीगई।पांचलाखकामुआवजामिला।जिससेपुस्तानिर्माणवघरकीटूट-फूटकामरम्मतीकरणकियागया।लेकिनअबविगत25अगस्त2018कोभारीबारिशकेबादभवनकापुस्ताएकबारफिरढहगया।जिससेभवनबुरीतरहखतरेकीजदमेंआगयाहै।प्रेमचंदनेबतायाकिभवनमेंजान-मालकेखतरेकोदेखतेहुएअमोठागांवमेंकिराएकेभवनपररहकरगुजर-बसरकररहाहूं।उन्होंनेबतायाकिमेरेदोबेटेहैं।जोमजदूरीकरपरिवारकापालनपोषणकरतेहैं।वेभीभवनकेजीर्णोद्वारमेंआर्थिकरूपसेमददनहींकरपारहेहैं।कोलमाइनमेंट्रॉलीमैनकेपदपरनौकरीकेबादमुझेअबपेंशनभीमात्र1500रुपयेहीमिलतीहै।जिससेमेंघरकेसुधारीकरणयानयाभवनबनानेमेंअसमर्थहूं।जिलाधिकारीनेबुजुर्गकोसकारात्मककार्रवाईकाआश्वासनदिया।

By Curtis