मेरठ,जेएनएन।नईपीढ़ीमेंमेंसांस्कृतिकअलखजगारहीसंस्थास्पिकमैकेकीओरसेआयोजितअनुभव-तीनश्रंखलाकीशनिवारकोशुरुआतहोगई।आनलाइनहोरहेकार्यक्रमोंऔरकार्यशालामेंशहरकेआठस्कूलोंकेकरीबपांचसौबच्चेहिस्सालेरहेहैं।दीवानपब्लिकस्कूलकेअलावाआर्मीपब्लिकस्कूल,दमिलेनियमएडुकोम,केकेपब्लिकस्कूल,सरस्वतीशिशुमंदिर,कौशिकपब्लिकस्कूल,इंटरनेशनलपब्लिकस्कूलकैंटकेअलावादीवानपब्लिकस्कूलहापुड़केभी50बच्चेस्पिकमैकेकीकार्यशालामेंहिस्सालेरहेहैं।

गांधीफिल्मसेहुईशुरुआत

स्पिकमैकेकेमेरठचैप्टरकीकोआर्डिनेटरसुचेतासहगलकेअनुसारमेरठसेअलग-अलगकार्यशालाओंमेंकरीबपांचसौबच्चेजुड़रहेहैं।अनुभवकेपहलेदिनसभीबच्चोंकोसुबहनौबजेगांधीफिल्मदिखाईगई।इसकेबादप्रो.गीताधर्मपालनेमहात्मागांधीएवंसिनेमापरअपनेविचारव्यक्तकिए।दोपहरबादसाढ़ेतीनबजेसेसभीपंजीकृतबच्चोंकाओरिएंटेशनकार्यक्रमहुआ।इसकेबादशामसाढ़ेपांचबजेसांस्कृतिककार्यक्रमकीशुरुआतशेखमहबूबसुहानीऔरकलीशाबीमहबूबनेकी।कार्यक्रमकेअंतिमचरणमेंछात्रोंवशिक्षकोंनेपरवीनसुल्तानाकोसुना।उनकीगायकीनेबच्चोंवबड़ोंकोजोड़ेरखा।हिदुस्तानीगायनसेउन्होंनेबच्चोंकोपरिचितहीनहींकरायाबल्किसंगीतकोजीनेकेलिएप्रेरितभीकिया।

हरदिनसुबहचारसेशाम7:30बजेतकचलेगीकार्यशाला

स्पिकमैकेकीकार्यशालावसांस्कृतिकप्रस्तुतियोंकायहसिलसिलाएकसप्ताहतकसुबहचारबजेसेशामसाढ़ेसातबजेतकचलेगा।अलग-अलगसांस्कृतिकप्रस्तुतिऔरगतिविधियोंमेंपंजीकृतबच्चेशामिलहोसकेंगे।सुबहकीशुरुआतनादयोगवहठयोगसेहोगीऔरसमापनसंगीतमयप्रस्तुतिकेसाथहोगी।सभीकार्यक्रमकालाइवप्रसारणयू-ट्यूबपरस्पिकमैकेकेचैनलकेमाध्यमसेकियाजारहाहै।