श्रीमुक्तसरसाहिब

एकबारफिरसेबढ़रहेकोरोनाकेमामलोंकोरोकनेकेलिएसरकारकीओरसेदिशानिर्देशजारीकिएगएहैं।एसएसपीडीसुडरविलीकीतरफसेभीलोगोंकोमास्कलगानेतथाअन्यहिदायतेंजारीकीगईहैं।सरकारीस्कूललड़कियोंकेप्रिसिपलजगदीशनेबतायाकिउनकेस्कूलमेंलड़कियोंकीसंख्यादोहजारसेअधिकहै।कोरोनासेपहलेबच्चोंकीसंख्या17सौकेकरीबथी।लेकिनकोरोनाकेबादएकाएकस्कूलमेंबच्चोंकीसंख्याबढ़गईहै।कोरोनाकेदोबाराआनेसेउनकेद्वारास्कूलमेंचारकोआर्डिनेटरलगाएगएहै।जिसमेंदोमहिलाएं,दोपुरुषअध्यापकहैं।जोकिबच्चोंकापूराध्यानरखेंगेऔरचैककरेंगेकिबच्चोंनेमास्कपहनाहैयानहीं।इसकेअलावाहाथसेनेटाइजरवशारीरिकदूरीकाध्यानरखेंगे।उन्होंनेबतायाकिजिसबच्चेकेपासमास्कनहींहोगावहस्कूलसेउसकोमास्कउपलब्धकरवाएंगे।इसअवसरपरकोर्डिनेटरअध्यापकरमनकुमारतथाअंकुशनेबतायाकिउनकेद्वाराबच्चोंकोकोरोनाबीमारीकेबारेमेंजानकारीदीजारहीहै।इसकेअलावाध्यानरखाजारहाहैकिकहींकोईबच्चोंकीभीड़एकत्रितनहो।बच्चोंकोबीमारीसेबचानेकेलिएअलग-अलगसमयपरछुट्टीकीजारहीहै,ताकिबच्चेइकट्ठेनहो।इसकेअलावाबच्चोंकोअपनीपानीकीबोतलतथाखानासांझाकरनेसेभीरोकाजारहाहै।उन्होंनेकहाकिइसकेअलावाअन्यअध्यापकोंकीतरफसेभीइसऔरविशेषध्यानदियाजारहाहै।उन्होंनेकहाकिकाफीलंबासमयतकस्कूलबंदहोनेकेकारणबच्चोंकीपढ़ाईपरबहुतहीबुराअसरपड़ाहै।