अशोकढिकाव,भिवानी

शाहकालीरात।कंपकंपादेनेवालीठंडीहवाएं।ऊपरसेबारिशकीबूंदें।इसबीचकुछबेसहारालोगवदिव्यांगरातगुजारनेकेलिएआसरातलाशते।यहनजाराथामंगलवाररातकोभिवानीशहरका।

रेलवेस्टेशनकेपासनगरपरिषदद्वारामहज15दिनपहलेटैंटलगाकरबनाएगएअस्थायीरैनबसेरेमेंरखेगएबिस्तरवपूराटैंटबारिशमेंभीगचुकाथा।वहांआस-पासमेंकुछबेसहारालोगबारिशमेंठिठुरनभरीरातगुजारनेकेलिएठिकानातलाशरहेथे,लेकिनबेदर्दरातगुजरानेकेलिएकहींठिकानानहींमिलरहाथा।दृश्यनंबर-1:समयरातके11बजे,स्थाननगरपरिषदकेबाहरबनारैनबसेरा:

रातठीक11बजेदैनिकजागरणकीटीमरैनबसेरेकानिरीक्षणकरनेपहुंचतीहै।अस्थायीरैनबसेरेकापूराटैंटबारिशमेंभीगाहुआ।टैंटकेअंदररखीरजाईवगद्देभीभीगेहुए।वहांआसराढूंढनेकेलिएपहुंचेतोसाधुरजाईउठाकरबाहरलोहेकेतारपरसुखातेनजरआतेहैं।

दृश्यनंबर-2:समय11बजकर15मिनटस्थानरेलवेस्टेशनपरिसर

रेलवेस्टेशनपरिसरमेंइधर-उधरकोनेमेंजैसेभीकोईजगहमिलीबेसहाराफटेपुरानेकंबलचदरमेंलिपटेहुएमिलतेहैं।उन्हेंजगाकरव्यवस्थाकेबारेमेंपूछनेपरवहव्यवस्थाकेबारेमेंपूरीपोलखोलतेहैं।दृश्यनंबर-3:समय11बजकर50मिनट,स्थानकृष्णाकालोनीखाड़ीमोहल्लाजानेवालामार्ग

टीमनगरपरिषदकेपाससेवैश्यकालेजरोडहोतेहुएकृष्णाकालोनीराधाकीरसोईकीदुकानकेपासपहुंचतीहै।वहांपरएकदिव्यांगकंबलमेंदुबकाहुआ।ठंडसेअपनाबचावकरतानजरआताहै।उसकीबेसाखीपासमेंहीपड़ीहुईथी।जैसेउसेऔरकुछनहींबारिशवसर्दहवाओंमेंठंडसेबचनेकीलगीहोबस।दृश्यनंबर-समय12बजकर10मिनट4:

जोगीवालामंदिर

-वहांपरभीफुटपाथपरकुछबेसहाराआधेभीगेऔरआधेसुखेकंबलमेंलिपटेहुएमिलतेहैं।