जानकारीकेमुताबिकराज्यसरकारपहलेचरणमेंउनजिलोंपरज्यादाफोकसकररहीहैजहांसाक्षरतादरकमहै.पिछलेदिनोंहीसीएमयोगीनेउच्चअधिकारियोंनिर्देशदिएथेकिसभीशिक्षकघर-घरजाकरअभिभावकोंसेमिलेंऔरबच्चोंकोस्कूलआनेकेलिएप्रेरितकरें.सीएमयोगीनेशिक्षाविभागकेअफसरोंसेकहाथाकिइसअभियानमेंजनप्रतिनिधियोंकोभीजोड़ाजाएऔरवहभीबच्चोंकोस्कूलजानेकेलिएप्रेरितकरें.राज्यसरकारकेइसअभियानकेतहतपांचसालसे14सालतककेऐसेबच्चेकोजोड़ाजाएगा.जोकभीस्कूलनहींगएयाफिरजिन्होंनेपढ़ाईबीचमेंहीछोड़दीहै.इनबच्चोंकीपहचानकरउनकापरिषदीयस्कूलोंमेंदाखिलाकियाजाएगा.

30अप्रैलतकचलेगाडोरटूडोरसर्वे

जानकारीकेमुताबिकशिक्षाविभागऐसेबच्चोंकीपहचानकेलिए30अप्रैलतकडोरटूडोरसर्वेचलाएगाऔरउसकेबादबच्चोंकोस्कूलआनेकेलिएप्रेरितकरेगा.फिलहालआजसीएमयोगीआदित्यनाथश्रावस्तीमेंस्कूलचलोअभियानकाशुभारंभकरेंगे.गौरतलबहैकिराज्यमेंकोरोनाकालमेंपिछलेदोशैक्षणिकसत्रोंकेदौरानस्कूलचलोअभियाननहींचलायाजासकाथा.

सीएमनेशिक्षाविभागकोदियाहैदोकरोड़बच्चोंकालक्ष्य

असलमेंराज्यमें2017मेंयोगीआदित्यनाथसरकारबननेबादसरकारीस्कूलोंमेंबच्चोंकीसंख्यामेंइजाफाहुआहै.जबकिउससेपहलेस्कूलोंमेंबच्चोंकीसंख्यामेंलगातारगिरावटदर्जकीजारहीथी.लेकिनशैक्षणिकसत्र2017-18सेबच्चोंकीसंख्यास्कूलोंमेंबढ़नीशुरूहोगईथीऔरशैक्षणिकसत्र2021-22केलिएपरिषदीयस्कूलोंमें1.73करोड़बच्चोंकानामांकनकियागयाथा.वहींअबसरकारनेस्कूलचलोअभियानकेदौरानपरिषदीयस्कूलोंमेंदोकरोड़बच्चोंकानामांकनकालक्ष्यबेसिकशिक्षाविभागकोदियाहै.

UP:विशेषसंप्रदायकेयुवकनेधार्मिकनारालगाकरगोरखनाथमंदिरकेसुरक्षाकर्मियोंपरकियाहमला,हमलावरकेघरपहुंचीएटीएस

ADRReport:योगीसरकारके39मंत्रीकरोड़पति,18मंत्रीपोस्टग्रेजुएट;20परगंभीरआपराधिककेसहैंदर्ज,यहांदेखेंपूरीलिस्ट