जागरणसंवाददाता,देहरादून:प्री-बोर्डपरीक्षाकेपरिणामोंनेबोर्डपरीक्षाकोलेकरचिंताबढ़ादीहै।दरअसल,निजीस्कूलोंकीओरसेआयोजितपहलीप्री-बोर्डपरीक्षामेंछात्रोंकापरिणामपिछलेवर्षोंकेमुकाबलेबहुतबुरारहाहै।ऐसेमेंछात्र,अभिभावकऔरस्कूलप्रशासनतीनोंचिंतितहैं।

कोरोनासंक्रमणफैलनेकेबादमार्चसेस्कूलबंदहैं।छात्र-छात्राएंऑनलाइनपढ़ाईपरहीनिर्भरहैं,लेकिनयहव्यवस्थापूरीतरहसेसफलसाबितनहींहुई।छात्र,अभिभावकएवंशिक्षकतीनोंनेहीमानाहैकिस्कूलमेंहोनेवालीपढ़ाईहीउचिततरीकाहै।हालांकि,प्रदेशसरकारकेआदेशकेबाददोनवंबरसेबोर्डकक्षाओंकेलिएजरूरस्कूलखोलदिएगएहैं।बावजूदइसकेस्कूलोंमेंछात्रसंख्याबेहदकमहै।इधर,दूनकेनिजीस्कूलोंनेपिछलेमहीनेसेप्री-बोर्डपरीक्षाएंशुरूकरदीहैं।परीक्षाओंकेपरिणामआनेकेबादसेछात्रएवंस्कूलोंकीचिंताबढ़गईहै,क्योंकिपरीक्षाकेपरिणामबहुतअच्छेनहींरहे।औसतनहरस्कूलकापरिणामपिछलेसालोंकेमुकाबले20से25फीसदगिरगयाहै।ऑनलाइनपढ़ाईकायहरुझानस्कूलोंपरचाहेप्रभावडालेयानहीं,लेकिनबोर्डकेछात्रोंकेलिएयहसचमेंबड़ीचिंताकाविषयहै।

कईछात्रोंनेनहींदीपरीक्षा

दूनकेशिक्षाविदोंकाकहनाहैकिकोरोनाकालमेंस्कूलबंदहोनेकेबादसेपढ़ाईकोलेकरछात्र-छात्राओंकीगंभीरतामेंकमीनजरआनेलगीहै।दिल्लीपब्लिकस्कूलकेप्रधानाचार्यबीकेसिंहनेबतायाकिप्रदेशमेंस्कूलखुलनेकेबादभीस्कूलोंमेंछात्रसंख्या20फीसदसेज्यादानहींपहुंचरही।पहलीप्री-बोर्डपरीक्षामेंतोआधेसेज्यादाछात्रपरीक्षादेनेतकनहींपहुंचे।उन्होंनेचिंताजतातेहुएकहाकिजबछात्रबोर्डसेपहलेअपनाआकलनहीनहींकरेेंगेतोमुख्यपरीक्षामेंकैसेबेहतरस्कोरकरेंगे।

यहभीपढ़ें- HaridwarKumbh2021:27फरवरीकोमाघपूर्णिमासेशुरूहोगाकुंभ,एकहफ्तेपहलेअधिसूचनाजारीकरेगीसरकार

सरकारीस्कूलोंमेंअबतकनहींहुईपरीक्षा

सीबीएसईएवंसीआइसीएसईबोर्डकेस्कूलोंमेंजहांपहलीप्री-बोर्डपरीक्षाहोनेकेबादपरिणामभीजारीहोगएहैं।वहींदूसरीओरसरकारीस्कूलोंमेंअभीप्री-बोर्डपरीक्षाओंकोलेकरकोईतैयारीनहींदिखरही।सरकारीस्कूलपरीक्षाकरवानेकेलिएशिक्षानिदेशालयकीओरसेआदेशजारीहोनेकाइंतजारकररहेहैं।हालांकि,कुछअशासकीयस्कूलइसीमहीनेकेअंततकअपनेस्तरसेपरीक्षाएंकरानेजारहेहैं।गोरखामिलिट्रीइंटरकॉलेजकेप्रधानाचार्यज्योतिप्रसादजगूड़ीनेबतायाकिइसीमहीनेकेअंततकउनकाएवंकुछअन्यअशासकीयस्कूलपरीक्षाकरवानेजारहेहैं।

By Davies