बुलंदशहर,जेएनएन।नगरकेबीआरसीकेंद्रपरसोमवारकोडिबाईविधायकसीपीसिंहनेस्कूलचलोअभियानकाशुभारंभकिया।उन्होंनेकहाकिछोटेबच्चेदेशकेकर्णधारहैं,इसलिएउनकाशिक्षितहोनाजरूरीहै।अध्यापकगांवोंमेंजाकरलोगोंसेसंपर्ककरें,औरबच्चोंकास्कूलमेंप्रवेशकराएं।शिक्षाकीगुणवत्तामेंसुधारहोनाचाहिए।कुछस्कूलोंमेंअध्यापकोंकीसंख्याबच्चोंकेअनुपातसेज्यादाहै।वहींकुछविद्यालयअध्यापकोंकेलिएतरसरहेहैं।ऐसेविद्यालयोंमेंजरूरतकेअनुसारअध्यापकोंकीतैनातीकीजाए।जोअध्यापकएकहीस्कूलमेंलंबेसमयसेडटेहैं,उनकेतबादलेकिएजाएं।उन्होंनेउत्तीर्णछात्रोंकोपुरस्कारदेकरउनकेउज्ज्वलभविष्यकीकामनाकी।अध्यापकमवासीसिंहनेप्रवेशकेदौरानअध्यापकोंकोआनेवालीसमस्याओंसेअवगतकराया।इसदौरानबीईओऋचाशमर,ब्लाकप्रमुखआनंदलोधी,उदयवीरसिंह,पवनकुमार,नेत्रपालसिंह,राजवीरएडवोकेटसमेतबड़ीसंख्यामेंलोगमौजूदरहे।

गेहूंफसलसहेजने

संवादसूत्रअहमदगढ़:क्षेत्रमेंगेहूंकीकटाईकाकार्यहोरहाहै।किसानपरिवारकेसाथदिन-रातफसलकोसहेजनेमेंजुटगएहैं।किसानपरिवारफसलकोसहेजनेमेंदिन-रातखेतपरहीगुजाररहेहैं।वहीकाफीकिसानमजदूरोंकेसहारेअपनीफसलकीकटाईकरारहेहैं।मजदूरोंकेसाथ-साथकुछकिसानतोआधुनिकतरीकोंसेगेहूंकीकटाईकाकार्यकरारहेहैं।उनकेद्वारामशीनोंकाप्रयोगकियाजारहाहै।येमशीनेगेहूंकीकटाईकेसाथ-साथपूलेभीबांधरहीहैं।ऐसेमेंकिसानोंकाकार्यजहांआसानहोरहाहै।हालांकिक्षेत्रकेकिसानकम्बाइनकासहारानहींलेरहेहैं।