संवादसहयोगी,पाकुड़:जिलाशिक्षाअधीक्षकदुर्गानंदझानेगुरुवारकोहिरणपुरप्रखंडकेविभिन्नविद्यालयोंकाऔचकनिरीक्षणकिया।इसक्रममेंउन्होंनेउत्क्रमितमध्यविद्यालयतारापुर,उत्क्रमितमध्यविद्यालयरानीपुर,मध्यविद्यालयकेन्दो,प्राथमिकविद्यालयदुल्मीडांगाआदिकानिरीक्षणकिया।विद्यालयोंमेंछात्रोंकीउपस्थितिनामांकनसेकमहोनेपरउन्होंनेनाराजगीजताई।कहाकिछात्रोंकीउपस्थितिसंतोषजनकनहींहै।इसमेंसंबंधितविद्यालयप्रधानाध्यापकअविलंबसुधारकरें।

जिलाशिक्षाअधीक्षकनेशिक्षकोंकोअपने-अपनेक्षेत्रकादौराकरअभिभावकोंकोशिक्षाकीमहत्तासेअवगतकरानेकोकहा।उन्हेंप्रेरितकरनेकोकहकिवहअपनेबच्चोंकोविद्यालयनियमितभेजें।सरकारद्वाराविद्यालयोंमेंछात्रोंकोदीजानेवालीसुविधाओंकेसंबंधमेंजागरूककरनेकानिर्देशदिया।कहाकिइसमेंकिसीभीतरहकीकोईलापरवाहीबर्दाश्तनहींकीजाएगी।अगलीबारनिरीक्षणक्रममेंछात्रोंकीउपस्थितिसंतोषजनकनहींहोनेपरसंबंधितशिक्षकोंकेविरूद्धकार्रवाईकेलिएवरीयपदाधिकारियोंकोअवगतकरायाजाएगा।जिलाशिक्षाअधीक्षकनेहिरणपुरप्रखंडस्थितविभिन्नविद्यालयोंमेंअध्ययनरतबच्चोंसेसंवादभीस्थापितकिया।उन्होंनेबच्चोंसेउनकेविषयसेसंबंधितप्रश्नपूछे।साथहीसामान्यज्ञानसेसंबंधितकईप्रश्नभीपूछे।पूछे।ज्यादातरबच्चोंनेसहीजवाबदिया।इसपरउन्होंनेप्रसन्नताव्यक्तकी।कहाकिशिक्षकपढ़ाईकीगुणवत्ताकोबनायेरखें।नियमितरूपसेपाठ्यक्रमकीपुस्तकेंपढ़ाएंऔरउसकाअभ्यासकराएं।मौकेपरविभागकेअन्यकर्मीवशिक्षकउपस्थितथे।

By Dennis