संवादसहयोगी,रूपनगर:घाड़क्षेत्रकेगांवोंकोपंजाबकीराजधानीचंडीगढ़केसाथमोहालीवहिमाचलराज्यकेसाथजोड़नेवालीपुरखाली-बिदरख-चंडीगढ़सड़ककीहालतइसकद्रखस्ताहोचुकीहैकियहपताहीनहींचलताकिसड़कमेंगड्ढेपड़ेहैंयाफिरगड्ढोंमेंसड़क।सरकारकीइसउदासीनतासेसड़कजहांअपनाअस्तित्वखोरहीहै,वहींइसअहमसड़ककेआसपासबसेगांवोंमेंरहनेवालेलोगोंमेंभीरोषहै।उल्लेखनीयहैकिपुरखालीसेबिदरखवालीसड़कक्षेत्रकेगांवोंकोखिजराबाद,खेड़ा,सियालबामाजरीकेरास्तेपंजाबकीराजधानीचंडीगढ़सहितमोहालीतथाहिमाचलकेसाथजोड़तीहै।यहीसड़कपुरखालीसेभंगलांहोतेहुएमनसाली,घनौलीकेरास्तेकीरतपुरसाहिबवआनंदपुरसाहिबकोभीघाड़केगांवोंकोभीजोड़तीहै।गांवबिदरखमेंबाबाअमरनाथजीकागुरुद्वाराहै,जहांहरदिनसंगतकाआना-जानालगारहताहै।उसेभीइसखस्ताहालसड़ककेकारणकाफीपरेशानीकासामनाकरनापड़ताहै।क्षेत्रकेरहनेवालेगुरुद्वाराकमेटीकेअध्यक्षजसकीरतसिंहजिम्मीसहितबहादुरसिंह,अवतारसिंहपप्पी,कृष्णसिंह,सुरमुखसिंह,सरपंचहरजिदरसिंह,पंचसुखविदरसिंह,स्वर्णसिंह,रणजीतसिंहआदिनेकहाकिछहसालपहलेलोगोंकेरोषकोदेखतेहुएसड़ककीलीपापोतीतोकीगईथी,लेकिनकुछसमयबादहीसड़कअपनाअस्तित्वखोगई।इससड़ककाप्रयोगसबसेज्यादावहवाहनचालककरतेहैं,जिन्हेंटोलप्लाजाबचानाहोताहै।ऐसेवाहनोंमेंसबसेअधिकसंख्यारेतवबजरीवालेटिप्परोंकेसाथविभिन्नमालकीढुलाईकरनेवालेभारीवाहनोंकीहै।यहीकारणहैकिइससड़ककीदयनीयहालतबनीहुईहै।इसबारेकईबारविभागकेअधिकारियोंकेसाथसत्ताधारीपक्षकेनेताओंकोसड़कठीककरवानेकीअपीलभीकीजाचुकीहै,लेकिनझूठेवादोंकेसिवाकुछहासिलनहींहुआ।उन्होंनेपंजाबसरकारसेअपीलकीकिइससड़ककीजल्दसुधलेतेहुएइसकीदशाकोसुधारे।अबभीअगरसड़कनहींबनी,तोवहमुख्यमार्गपरजामलगानेसेभीपीछेनहींहटेंगे।

By Davies